आंध्र प्रदेश विधानसभा के शीत सत्र का बहिष्कार करेगी वाईएसआर कांग्रेस

हैदराबाद: वाईएसआर कांग्रेस पार्टी ने पार्टी विधायक आर.के.रोजा को सदन से एक साल के लिए निलंबित किए जाने के विरोध में आंध्र प्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र का बहिष्कार करने का फैसला किया है। विपक्ष के नेता वाई.एस.जगनमोहन रेड्डी ने कहा कि चूंकि 'कॉल मनी रैकेट' पर चर्चा नहीं हो रही और रोजा को भी नियमों का उल्लंघन कर विधानसभा से निलंबित कर दिया गया है, इसलिए पार्टी ने सदन के शीतकालीन सत्र का बहिष्कार करने का फैसला किया है।

सदन में इसकी घोषणा करने के बाद वह अपने विधायकों के साथ सदन से चले गए। विपक्षी पार्टी की अनुपस्थिति में सदन की कार्यवाही चलती रही।

सदन का शीतकालीन सत्र 23 दिसंबर तक चलेगा।

वाईएसआरसीपी ने विधानसभा अध्यक्ष कोडेला शिवप्रसाद राव के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का निर्णय लिया है। उनका आरोप है कि राव विधानसभा की कार्यवाही में पक्षपात कर रहे हैं।

विधानसभा की कार्यवाही सोमवार सुबह शुरू होते ही जगन ने रोजा के निलंबन का मुद्दा उठाया और इसे रद्द करने की मांग की।

राज्य के संसदीय कार्य मंत्री वाई.रामकृष्णानाडु ने निलंबन रद्द करने से इंकार कर दिया। उन्होंने यह भी कहा कि 'कॉल मनी' मुद्दे पर चर्चा पहले ही हो चुकी है।

अभिनय से राजनीति में कदम रखने वालीं रोजा को मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू के खिलाफ कथित तौर पर असंसदीय टिप्पणी के लिए निलंबित किया गया। वाकया उस वक्त का है जब नायडू शुक्रवार को सदन में 'कॉल मनी' पर बयान दे रहे थे।

वाईएसआरसीपी के हंगामे के कारण शनिवार को भी सदन की कार्यवाही नहीं चल पाई थी।

नायडू के नेतृत्व वाले तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) और वाईएसआरसीपी में राजनीतिक मुद्दे पर जहां एक ओर एक-दूसरे के आमने-सामने हैं, वहीं सोमवार को सदन में नायडू, उनके मंत्रिमंडल सहयोगियों और विधानसभा अध्यक्ष ने जगन को उनके जन्मदिन पर बधाई दी।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN