दिहाड़ी मजदूर के खाते में आए 1.26 करोड़ रुपये, लेकिन कहां से किसी को पता नहीं

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में एक दिहाड़ी मजदूर रातों रात करोड़पति बन गया। उसे बैंक से एक मैसेज मिला कि उसके बैंक खाते में 1.26 करोड़ रुपये का बैलेंस है। नाजिर नाम का यह दिहाड़ी मजदूर चित्तूर जिले के अमिलेपल्ली गांव का रहने वाला है। उसके मोबाइल पर रात में एक मैसेज आया कि उसके आंध्रा बैंक के बचत खाते में कुल 1,26,76,436 रुपये जमा किए गए हैं। इससे पहले उसने बुधवार को अपने खाते में 250 रुपये जमा किए थे।

बैंक का संदेश पाकर नाजिर सकते में आ गया। उसने अगले ही दिन बैंक जाकर अधिकारियों से मुलाकात की और उन्हें इस रकम के बारे में बताया। अधिकारियों ने जवाब दिया कि उन्हें इस रकम के बारे में कोई जानकारी नहीं है।

इसके बाद नाजिर ने बैंक मित्र से संपर्क किया और अपरने खाते का मिनी स्टेटमेंट हासिल किया। स्टेटमेंट में दिख रहा था कि उसके खाते में कुल 1.26 करोड़ रुपये शेष राशि हैं। बैंक अधिकारियों ने इसकी सूचना आयकर अधिकारियों को दे दी है। अब आय कर विभाग के लोग इस मामले की जांच कर रहे हैं कि ये पैसे कहां से आए?

गौरतलब है कि 8 नवंबर को नोटबंदी के ऐलान के बाद देशभर में जनधन खाते में काला धन जमा होने की शिकायतें मिली थीं। कई लोगों ने अपने जानने वाले मजदूरों या घरेलू नौकरों के खातों में भी ऐसे धन जमा कराए हैं। आय कर विभाग इस तरह की सभी जमा राशियों की जांच कर रहा है। इसके अलावा केंद्र सरकार ने कालेधन को सफेद करने के लिए एक बार फिर नई स्‍कीम का एलान किया है। इसके अनुसार 50 प्रतिशत टैक्‍स देकर काले धन को सफेद किया जा सकेगा। राजस्‍व सचिव हसमुख अधिया ने बताया कि यह योजना शनिवार (17 दिसंबर) से शुरू होगी। उनके अनुसार, खुद बताने पर 50 प्रतिशत राशि काटी जाएगी। इसके तहत 31 मार्च तक धन सफेद किया जा सकेगा। बैंकों में जमा की जा रही रकम पर नजर रखी जा रही है। कालेधन के पूरे खेल पर सरकार की नजर है।

POPULAR ON IBN7.IN