आंध्र में कांग्रेस की मांग, अयोग्य ठहराए जाएं 9 बागी विधायक

आंध्र प्रदेश में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने मांग की है कि विधानसभा में पिछले सप्ताह तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) द्वारा लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के समर्थन में मत देने वाले नौ विधायकों का अयोग्य ठहराया जाए। कांग्रेस विधायक दल ने शनिवार को विधानसभा अध्यक्ष नादेंदला मनोहर को एक आवेदन दिया जिसमें वाईएसआर कांग्रेस पार्टी का समर्थन करने वाले विधायकों की सदस्यता अमान्य घोषित करने की मांग की गई है।

कांग्रेस के मुख्य सचेतक गांद्रा वेंकटरमन रेड्डी ने मनोहर को आवेदन सौंपा। यह आवेदन देकर सत्तारूढ़ दल ने यह संदेश दिया है कि सरकार उपचुनाव के लिए तैयार है।

मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी, राज्य कांग्रेस समिति के अध्यक्ष बोत्शा सत्यनारायण और वेंकटरमन रेड्डी के बीच इस मुद्दे पर शुक्रवार को हुई बैठक में आवेदन देने का फैसला लिया गया।

आवेदन में अल्ला नैनी (इलुरु), जी.रवि कुमार (अड्डाकनी), डी.चंद्रशेखर रेड्डी (काकिनाडा), जोगी रमेश (पेडाना), पेरनी नैनी (मछलीपटनम), बी.शिवप्रसाद रेड्डी (दार्सी), एम.राजेश (चिंतलापुडी), एस.कृष्णा रंगा राव (बब्बिली) और पी.रामचंद्रन रेड्डी (पुनगनुर) की सदस्यता रद्द करने की मांग की गई है।

कांग्रेस ने चंचलगुडा जेल में बंद वाईएसआर कांग्रेस के अध्यक्ष वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी से मुलाकात करने वाले विधायक के. श्रीसैलम गौड़ के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग नहीं की है। पार्टी संभवत: उनके खिलाफ अलग से आवेदन देगी।

गौड़ निर्दलीय विधायक हैं, उन्होंने सरकार गठन के समय सत्तारूढ़ दल के प्रति समर्थन व्यक्त किया था।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN