कैब ड्राइवर के अकाउंट में जमा हुए सात करोड़ रुपए

हैदराबाद में इनकम टैक्स विभाग ने एक ऐसे कैब ड्राइवर को खोज निकाला जिसके अकाउंट में नोटंबदी के बाद से अबतक सात करोड़ रुपए जमा किए गए। जिस शख्स के अकाउंट में पैसे मिला उसका नाम फिलहाल नहीं बताया गया है। पुलिस ने मुताबिक, वह ऊबर की कैब चलाता है। इनकम टैक्स विभाग को इस बारे में उस दौरान पता लगा था जब उनकी एक टीम उन लोगों की सूची बना रही थी जिनके खाते में तय सीमा से ज्यादा रकम डाली गई थी। कैब ड्राइवर का अकाउंट स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद में है। उसके अकाउंट में यह पैसा नोटबंदी के दो हफ्ते बाद जमा होना शुरू हुआ था। पैसे धीरे-धीरे करके जमा करवाया गया था। शख्स का एक और अकाउंट था। लेकिन वह काफी पहले बंद हो चुका है।

कैब ड्राइवर ने पैसे अपने अकाउंट में नहीं रोक रखे थे। बल्कि उसने उनको एक सोना कारोबारी को ट्रांसफर कर दिया था। इनकम टैक्स विभाग के एक अधिकारी ने बात करते हुए बताया कि जब उन्होंने शख्स से पूछा कि सोना व्यापारी के पास ट्रांसफर किया गया इतना सारा पैसा आया कहां से आया तो इसपर कैब ड्राइवर पैसों के सूत्रों के बारे में नहीं बता पाया था। शक होने पर इनकम टैक्स विभाग के अधिकारियों ने बैंक की सीसीटीवी फुटेज को भी खंगालना शुरू किया था। तब सामने आया कि उसके अकाउंट में पैसा जमा करवाने के लिए दो लोग बैंक जाया करते थे। वे दोनों भी कैब चलाते हैं।

पकड़े जाने के बाद कैब ड्राइवर ने पैसों के ऊपर टैक्स देने की बात कबूल ली। अब उसे टैक्स के रूप में 3.5 करोड़ रुपए की टैक्स पेनेल्टी देनी होगी। इसके अलावा उसका 25 प्रतिशत पैसा PMGKY स्कीम के तहत प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना में जमा हो जाएगा। जिसे चार साल तक निकाला नहीं जा सकेगा। उसपर कोई बयाज भी नहीं मिलेगा।

Poker sites http://gbetting.co.uk/poker with all bonuses.