नासा ने 'अगली पीढ़ी' का मौसम उपग्रह छोड़ा

 

वाशिंगटन:  अमेरिका ने 'अगली पीढ़ी' के एक मौसम उपग्रह को फ्लोरिडा के केप केनवरल वायुसेना अड्डे से शनिवार 6.42 बजे (भारतीय समयानुसार रविवार सुबह 5.12 बजे) छोड़ा। नासा ने कहा है कि इससे मौसम का सटीक अनुमान लगाने, निगरानी और तूफान की चेतावनी में मदद मिलेगी। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने एक बयान में कहा कि अमेरिकी राष्ट्रीय समुद्री एवं वायुमंडलीय प्रशासन (एनओएए) का जियोस्टेशनरी ऑपरेशनल इनवॉयरमेंटल सैटेलाइट-आर (जीओईएस-आर) अगले दो सप्ताह में अपनी अंतिम कक्षा में पहुंच जाएगा। इसका नाम जीओईएस-16 होगा।

वाशिंगटन में नासा साइंस मिशन निदेशालय के सहायक प्रशासक थॉमस जुरबुचेन ने कहा, "जीओईएस-आर का प्रक्षेपण हमारी योग्यता के एक बड़े कदम का प्रतिनिधित्व करता है, जिसमें समय से और सटीक मौसम की भविष्यवाणी और चेतावनी जीवन रक्षा के लिए महत्वपूर्ण है।"

जुरबुचेन ने कहा, "यह नासा और नोआ (एनओएए) के एक दशक लंबी साझेदारी से हुआ, जिसमें भूस्थिर पर्यावरण उपग्रह का सफलतापूर्वक निर्माण और उसका प्रक्षेपण किया गया।"

यह नया उपग्रह जांच और इसके छह नए उपकरणों की पुष्टि के बाद एक साल के अंदर कार्य करना शुरू कर देगा। इसमें भूस्थैतिक कक्षा में प्रथम बिजली मैपर का परिचालन भी शामिल है।

  • Agency: IANS