राम सिंह को कानून द्वारा सजा मिलनी चाहिए थी : तीरथ

नई दिल्ली, 11 मार्च (आईएएनएस)| राष्ट्रीय राजधानी में 16 दिसंबर, 2012 की रात चलती बस में 23 साल की युवती के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में मुख्य आरोपी राम सिंह द्वारा सोमवार तड़के तिहाड़ जेल में खुदकुशी कर लिए जाने के बाद केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री कृष्णा तीरथ ने कहा कि बेहतर होता कि उसे कानून द्वारा सजा मिलती।

तीरथ ने संवाददाताओं से कहा, "संभव है कि उसने हताशा में ऐसा किया हो। केंद्रीय गृह मंत्रालय इस मामले में कार्रवाई करेगा। मामले की जांच होगी।"

इस बीच, राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ममता शर्मा ने एक टेलीविजन चैनल से कहा कि यदि कानूनी प्रक्रिया तेज होती तो ऐसा नहीं हो पाता। इस मामले में फैसला जल्द आना चााहिए।

शर्मा ने कहा, "यह आश्चर्यजनक है कि जेल प्रशासन राम सिंह को बचा पाने में नाकाम रहा।"

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN