कांग्रेस का चुनाव चिह्न जब्त कराने निर्वाचन आयोग पहुंची भाजपा

 

नई दिल्ली:  कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मंगलवार को निर्वाचन आयोग से कांग्रेस का चुनाव चिह्न 'जब्त' करने की मांग की। उल्लेखनीय है कि राहुल ने हाल ही में कांग्रेस के चुनाव चिह्न की तुलना धार्मिक महापुरुषों से की थी।

पांच राज्यों में अगले महीने होने वाले विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को निर्वाचन आयोग से राहुल गांधी द्वारा 11 जनवरी को दिल्ली में 'जन वेदना सम्मेलन' के दौरान दिए बयान की शिकायत की।

मुख्तार अब्बास नकवी और प्रकाश जावड़ेकर के नेतृत्व में निर्वाचन आयोग पहुंचे भाजपा प्रतिनिधिमंडल में पार्टी महासचिव अरुण सिंह सहित कई अन्य नेता शामिल थे।

नकवी ने पत्रकारों से कहा, "राहुल गांधी का बयान चुनाव से पहले सांप्रदायिक सद्भाव भंग करने की साजिश के अलावा और कुछ नहीं है। धार्मिक महापुरुषों से अपने चुनाव चिह्न की तुलना कर वह लोगों से कहना चाहते हैं कि कांग्रेस को वोट देकर वे अपने धर्म को वोट देंगे।"

उन्होंने कहा, "यह और कुछ नहीं, बल्कि धर्म के नाम पर वोट मांगना है। न सिर्फ यह गलत है, बल्कि आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन भी है। इसलिए हमने इस मामले में सख्त कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेस का चुनाव चिह्न जब्त होना चाहिए।"

कांग्रेस पर सांप्रदायिक राजनीति करने का आरोप लगाते हुए नकवी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ उसके गठबंधन का उपहास भी उड़ाया।

उन्होंने कहा, "अब कांग्रेस ने चूंकि सपा से गठबंधन कर लिया है, तो उनका न्यूनतम साझा कार्यक्रम अब सांप्रदायिकता, भ्रष्टाचार और कुशासन होगा।"

POPULAR ON IBN7.IN