कैंसर रोकने के गुणों से भरपूर है भुट्टा, एनीमिया से भी करता है बचाव, जानें और क्या हैं फायदे

भुट्टे में तमाम तरह के पौष्टिक तत्व जैसे फोलिक एसिड, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं। इसके अलावा भुट्टे का सेवन करने से हमारे शरीर में फाइबर, विटामिन्स, कैरोटिनॉयड्स की आपूर्ति होती है। जिससे दिल की बीमारियां, कैंसर और आंखों से संबंधित बीमारियों से काफी लाभ मिलता है। आयुर्वेद में भी भुट्टे के कई स्वास्थ्य संबंधी फायदे गिनाए गए हैं। इसके अनुसार भुट्टा पित्तनाशक और तृप्तिदायक अनाज होता है। इन सबके अलावा भी कई तरह की शारारिक परेशानियों से निजात दिलाने में भुट्टा काफी लाभकारक होता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करने में – कोलेस्ट्रॉल दिल संबंधी बीमारियों के लिए उत्तरदायी होते हैं। इसलिए कोलेस्ट्रॉल की समस्या से बचने के लिए भुट्टे का सेवन किया जा सकता है। भुट्टे में विटामिन सी, बायोफ्लेवोनॉयड्स, कैरोटिनॉयड्स और फाइबर काफी मात्रा में पाए जाते हैं। ये सभी कोलेस्ट्रॉल कम करने में मदद करते हैं। इसके आलावा यह नसों को ब्लॉक होने से रोकता है। भुट्टा दिल की बीमारियों के खतरे को कम करता है।

कैंसर रोकने में – भुट्टे में पर्याप्त मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स और फ्लेवोनॉयड्स पाए जाते हैं। जिसकी वजह से कैंसर का खतरा काफी कम हो जाता है। भुट्टे में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट्स कैंसर फैलाने वाली नुकसानदेह कोशिकाओं के नकारात्मक प्रभावों को बेअसर कर देते हैं। भुट्टे में पाया जाने वाला फेरुलिक एसिड ब्रीस्ट और लीवर के ट्यूमर के साइज को कम करने में मदद करता है।हड्डियों को मजबूत करने में – भुट्टे हड्डियों की मजबूती में काफी कारगर होते हैं। इसमें जिंक, मैग्नीशियम, फास्फोरस, और आयरन जैसे खनिज काफी मात्रा में पाये जाते हैं। ये हड्डियों से संबंधित रोगों जैसे आर्थराइटिस आदि के इलाज में भी काम आते हैं।

एनीमिया में – शरीर में आयरन की कमी से एनीमिया रोग होता है। ऐसे में डॉक्टर्स आयरन से भरपूर डाइट के इस्तेमाल की सलाह देते हैं। भुट्टे में काफी मात्रा में आयरन पाया जाता है। उबले हुए भुट्टों के नियमित सेवन से शरीर को पर्याप्त मात्रा में आयरन की आपूर्ति होती है। इसमें फोलिक एसिड भी होता है जो ब्लड सेल्स बनाने में काफी मदद करता है।

POPULAR ON IBN7.IN