क्यूबा में अब कनाडाई राजनयिक को भी बहरापन, विशेष तरह के उपकरण से हमले की आशंका

क्यूबा में  दूतावासों के अधिकारियों पर एक विशेष तरह के हमले का शक जताया जा रहा है जिसमें उनको बहरेपन की शिकायत हो रही है. मिली जानकारी के मुताबिक क्यूबा में अमेरिकी दूतावास कर्मियों के बहरेपन की समस्या से पीड़ित होने के कारण हवाना छोड़कर जाने के बाद यहां एक कनाडाई राजनयिक को भी इसी प्रकार की समस्या होने की बात सामने आई है. एक अधिकारी ने यहां बताया कि कनाडाई राजनयिक का उपचार चल रहा है. अमेरिकी अधिकारियों ने बताया कि उनके कर्मियों पर ध्वनि संबंधी उपकरण से हमला किया गया जिसमें श्रवण क्षमता की सीमा से तेज ध्वनि का इस्तेमाल किया गया. यह हमला हवाना में अमेरिकी अधिकारियों के आवासों के भीतर या बाहर किया गया. अधिकारियों ने बताया कि यह साफ नहीं है कि इसके लिए क्यूबा जिम्मेदार है या कोई अन्य देश. कनाडाई विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ब्रियाने मैक्सवेल ने कल कहा, 'हम हवाना में कनाडाई और अमेरिकी राजनयिकों एवं उनके परिजन को प्रभावित करने वाले असामान्य लक्षणों के बारे में जानते हैं.' उन्होंने कहा, 'इसका कारण पता लगाने के लिए अमेरिकी और क्यूबाई प्राधिकारियों समेत सरकार सक्रिय रूप से काम कर रही है.' अमेरिका के विदेश मंत्रालय ने बुधवार को कहा था कि पहली बार इस प्रकार के लक्षण पिछले साल के अंत में देखे गए थे.

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने कहा, 'कुछ अमेरिकी अधिकारी क्यूबा के हवाना में हमारे दूतावास में काम कर रहे थे. कुछ ऐसी घटनाओं की सूचना मिली जिनके कारण उन्हें कई शारीरिक परेशानियां हुईं. हमारे पास इसके पीछे के कारण के बारे में कोई सटीक जवाब नहीं है.'  हीथर ने कहा कि इस घटना को लेकर मई में वाशिंगटन से दो क्यूबाई राजनयिकों को निष्कासित कर दिया गया था.

उन्होंने कहा, 'हमें कुछ अमेरिकियों को देश वापस बुलाना पड़ा और कुछ अमेरिकी इसके कारण स्वयं ही लौट आए.  इस कारण हमने अमेरिका में कार्यरत दो क्यूबाई अधिकारियों से वापस जाने को कहा, और वह लौट गये.'

POPULAR ON IBN7.IN