प्रदूषण केवल पटाखों से नहीं अन्य चीजों से भी होता है, इसलिए पाबंदी ठीक नहीं- मुस्लिम धर्मगुरु

Thursday, 19 October 2017 07:44

दीपावली में पटाखों को लेकर जो हाल ही में सुप्रीम कोर्ट जो  फैसला दिया उसे लेकर आजकल देश भर में बहस चल रही है. मामला भले ही हिंदुओं के त्योहार से जुड़ा हो, मगर अन्य धर्म के लोग भी इस मुद्दे पर अपनी अलग राय रखते हैं. मुस्लिम धर्म गुरुओं का मानना है कि भारत में हर धर्म के समारोह धूम-धाम से मनाए जाते हैं, इसलिए आतिशबाजी को किसी धर्म विशेष से जोड़कर नहीं देखना चाहिए, क्योंकि आतिशबाजी भले ही जलाते हिंदू हों, लेकिन इसके कारोबार में बड़ी संख्या में मुस्लिम जुड़े हुए हैं. 


पटाखों की बिक्री पर लगी रोक को लेकर मुस्लिम धर्म गुरु अलग-अलग राय रखते हैं. क्या कहते हैं ये मजहबी रहनुमा जानें यहां-   
जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी कोर्ट के इस फैसले से सहमत नज़र नहीं आए. उन्होंने कहा कि 
हिंदुस्तान की रिवायत रही है कि सभी लोग हंसी-ख़ुशी से अपने-अपने त्योहार मानते आये हैं. पहली दफ़ा ये हुआ है कि एक फ़िरक़े के सबसे बड़े त्यौहार और उसके जश्न पर पाबंदी की बात हुई है. अगर अदालत को ये फैसला देना ही था तो पहले देते या ज्यादा प्रदूषण फ़ैलाने वाले पटाखों पर पाबंदी लगते हुए बाकी के इस्तेमाल की इजाज़त देनी चाहिए थी, ताकि लोग अपने त्योहार को हमेशा की तरह जश्न के साथ मन सकते. शाही इमाम कहते हैं कि प्रदूषण बाकि और चीज़ों से भी होता है लिहाज़ा अचानक ये फैसला उनकी नज़र में मुनासिब नहीं है.
 

ahamad bukhari

जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी 
 

जानेमने इस्लामिक विद्वान मौलाना वहीदउद्दीन का कहना है कि प्रदूषण रोकने के लिए अच्छा क़दम है लेकिन ये मसला इतना आसान नहीं है जितना समझा जा रहा है. इस मसले को जड़ से ख़त्म करने के लिए समाज के ज़िम्मेदार लोगों को आगे आना पड़ेगा. लोगों को प्रदूषण से होने वाले नुकसान के बारे में अच्छे से समझाना होगा. मौलाना कहते हैं कि पटाखा जहां बनता है बैन की जरुरत वहां है, तभी प्रदूषण को रोकने की कोशिश अहम साबित होगी.
 

wahid

इस्लामिक विद्वान मौलाना वहीदउद्दीन
 
इत्तेहाद-ए-मिल्लत के चेयरमैन मौलाना तौक़ीर रज़ा खान पाबंदी लगाने को मुनासिब नहीं मानते हैं. उनका कहना है कि हम लोग तो सालभर प्रदूषण फैलाते हैं, दीपावली एक दिन का परंपरागत मामला है, प्रदूषण को रोकने की जिम्मेदारी सरकार की है और उसे रोकने के लिए मुनासिब इंतज़ाम सरकार को करना चाहिए. पर ये ध्यान रखा जाना चाहिए कि किसी की धार्मिक भावनाएं आहात न हों. तौक़ीर रज़ा का ये भी कहना है कि आतिशबाज़ी दीपावली की पहचान है. इसलिए इस पर्व पर पटाखों पर पाबंदी अनुचित है.
 

taukir raza

इत्तेहाद-ए-मिल्लत के चेयरमैन मौलाना तौक़ीर रज़ा खान
 
लखनऊ ईदगाह के शाही इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली कहते हैं कि सुप्रीम कोर्ट सबसे बड़ी अदालत है इसका जो भी फैसला है उसका सम्मान करना हम सबका फ़र्ज़ है, लेकिन उसी के साथ-साथ हमें ये भी ध्यान रखना चाहिए कि दिवाली हिन्दू भाइयों का त्यौहार है और पटाखों चलाने का सिलसिला कुछ ही घंटों के लिए होता है, इसलिए उसको मनाने की अनुमति दी जानी चाहिए. मौलाना महली कहते हैं कि सिर्फ दिवाली से ही प्रदूषण होता है ये कहना मुनासिब नहीं है. पूरे साल होने वाले प्रदूषण को भी साथ-साथ देखा जाना चाहिए. दिवाली पर जो भी मज़हबी परंपरा है उसे बरक़रार रखना चाहिए.
 

rasheed firangi

लखनऊ ईदगाह के शाही इमाम मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली

दिल्ली फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मुफ़्ती मुकर्रम फैसले को सही मानते हुए कहते हैं कि पटाखे को मज़हबी परंपरा से जोड़ना मुनासिब नहीं है. प्रदूषण से इंसान बहुत तेज़ी के साथ प्रभावित हो रहा है. इस फैसले से प्रदूषण तो रुकेगा लेकिन जिस तरह से ख़बरें आ रही कि लोग पटाखे छोड़ने पर आमादा हैं इससे ऐसा लगता है जैसे एक मज़हबी समुदाय ने इस मामले को अपनी आन-बान-शान का मामला बना लिया है. मेरी नज़र में फैसला ठीक है अगर पूरी तरह से अमल हो जाये.
 

mufti mukarram

फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मुफ़्ती मुकर्रम

वेलफेयर पार्टी ऑफ़ इंडिया के अध्यक्ष और मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सदस्य क़ासिम रसूल इलियास का मानना है कि दिवाली के मौके पर पटाखों का इस्तेमाल करने से दिल्ली में प्रदूषण काफी बढ़ जाता है. सर्वे बताते हैं कि दिल्ली प्रदूषण के लिहाज़ से इन्तेहाई खतरनाक मुक़ाम पर पहुंच चुका है. सुप्रीम कोर्ट का ये फैसला इंसानी सेहत के लिहाज़ से बहुत ज़रूरी था. पटाखे को बड़े पैमाने पर जलाने से जो फ़िज़ूल खर्ची होती है उसको न जला कर अगर गरीबों और ज़रुरतमंदों की बेहतरी के लिए ये पैसा खर्च किया जाए तो बहुत पुण्य भी मिलेगा और दूसरों का भला भी होगा. वे कहते हैं कि दिवाली में ख़ुशी का इज़हार करने के लिए रौशनी की जाती रही है वो सिलसिला आज भी जारी है लेकिन पटाखे मौजूदा दौर की परंपरा है इससे प्रदूषण के अलावा कुछ हासिल नहीं होता.
 

kasim rashool

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सदस्य क़ासिम रसूल इलियास

मरकज़ी जमीअत अहले हदीस हिन्द के अध्यक्ष मौलाना असगर अली इमाम मेहंदी सलफ़ी कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहते हैं कि दिवाली हिन्दू भाइयों का सबसे बड़ा त्यौहार है और इसे रौशनी का त्यौहार भी कहा जाता है. इसमें दीये जलाने की साथ आतिशबाज़ी भी की जाती है और इसकी धार्मिक अहमियत उनके धर्म गुरु बेहतर जानते हैं. लेकिन आतिशबाज़ी से प्रदूषण होना तो लाज़मी है. मौलाना कहते हैं हिन्दू भाई भी इन चीज़ों से इत्तेफ़ाक़ रखते हैं इसलिए कोर्ट के फैसले से सहमत हैं, जिसके लिए वो मुबारकबाद के मुस्तहक़ है.

जवानों को दीवाली का तोहफा, सैटेलाइट फोन से 1 रुपये की दर से घरवालों से कर सकेंगे बात

Thursday, 19 October 2017 07:40

 केंद्र सरकार ने दीवाली के मौके पर घर से दूर रहकर देश की सेवा कर रहे जवानों को एक तोहफा दिया है. सैन्य और अर्धसैन्यकर्मी 19 अक्टूबर यानी दीवाली के दिन से सैटेलाइट फोन से एक रुपये प्रति मिनट की दर से अपने घरवालों से बात कर सकेंगे. 

 

टेलीकॉम मंत्री मनोज सिन्हा ने बताया कि जवान दीवाली के दिन से इस सेवा का लाभ उठा सकेंगे. उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से जवानों को यह दीवाली गिफ्ट है. अब वे लंबे समय तक अपनों से बात कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि ऐसी सेवाओं के अब तक फिलहाल 5 रुपये प्रति मिनट लगते थे. हालांकि कुछ जगह एक रुपये में भी यह सेवा उपलब्ध है. 
टेलीकॉम मंत्री ने कहा कि सैटेलाइट फोन पर अब तक सैनिकों को मासिक तौर पर 500 रुपये का भुगतान करना पड़ता था. इसके अलावा कॉल चार्ज के तौर पर उन्हें 5 रुपये प्रति मिनट देना पड़ता था. सरकार ने अब कॉल रेट को 5 रुपये प्रति मिनट से घटाकर 1 रुपये प्रति मिनट कर दिया है. अब 500 रुपये का मासिक चार्ज पूरी तरह से खत्म हो जाएगा.

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कॉल दरें कम करने के लिए ट्वीट कर मनोज सिन्हा का शुक्रिया अदा किया है.

11 दिन से लापता भारतीय बच्ची को ढूंढने के लिए अमेरिका कर रहा है ड्रोन का इस्तेमाल

Wednesday, 18 October 2017 19:45

अमेरिका में रहस्यमयी परिस्थितियों में 11 दिन पहले लापता हुई तीन वर्षीय भारतीय बालिका की तलाश में टेक्सास के रिचर्डसन में पुलिस ड्रोनों का इस्तेमाल कर रही है। दूध नहीं पीने पर लड़की के पिता ने उसे घर के बाहर गली में छोड़ा था, जिसके बाद वह लापता हो गई थी। शेरीन मैथ्यूज गत सात अक्टूबर को लापता हो गई थी, जिसके बाद उसके पिता वास्ले मैथ्यूज ने पुलिस को बताया कि दूध नहीं पीने पर सजा के रूप में बालिका को वह देर रात तीन बजे घर के बाहर छोड़ गया था। शेरीन, वास्ले की गोद ली हुई बेटी है।

बच्ची को लापता हुए दस दिन बीत चुके हैं। जांचकर्ताओं को हालांकि अभी भी बच्ची के मिलने की उम्मीद है। सार्जेंट केविन पेलचिच ने कहा,‘‘हमने उम्मीद नहीं छोड़ी है। उसके जिंदा मिलने की उम्मीद है, लेकिन हमारे पास वक्त बहुत कम है। इसलिए हम इस मामले का जल्द से जल्द समाधान करने का प्रयास कर रहे हैं।’’ जॉनसन काउंटी शेरिफ का कार्यालय और मैंसफील्ड पुलिस विभाग शेरिन मैथ्यूज की तलाश के लिए रिचर्डसन पुलिस विभाग की मदद कर रहा है।

पुलिस ने बताया कि उन्होंने जांच के दौरान खेतों, संकरी खाड़ी और जंगली क्षेत्रों समेत कई ऐसे स्थानों पर तलाश की जहां बच्ची हो सकती थी। इसके बाद तलाश में मदद के लिए खोजी कुत्तों को मौके पर लाया गया। शेरिन की तलाश में अधिकारियों की मदद के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है। रिचर्डसन पुलिस ने फेसबुक पर कहा ,‘‘जांचकर्ता आज के प्रयासों के परिणामों का मूल्यांकन करेंगे जबकि जांच जारी है।’’

इस बीच एक पादरी ने मैथ्यूज परिवार के घर के बाहर एक साइन बोर्ड लगाकर शेरिन अभिभावकों से सच्चाई बताने के लिए कहा है। पुलिस के अनुसार, मैथ्यूज के अभिभावक जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। वास्ले मैथ्यूज को गिरफ्तार किए जाने के तुरन्त बाद बाल सुरक्षा सेवा ने उसकी अपनी खुद की चार वर्षीय बेटी को अपने संरक्षण में ले लिया था।

 

2019 तक पूरा हो जाएगा उत्तर प्रदेश में 'राम राज्य' का सपना: योगी आदित्यनाथ

Wednesday, 18 October 2017 17:43

अयोध्या: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में दीपावली की पूर्व संध्या पर भगवान राम के अयोध्या आगमन पर उनका स्वागत करते हुए कहा कि अयोध्या हमेशा नकारात्मक चर्चा का केंद्र रही है. यह कार्यक्रम नकारात्मक चर्चा को सकारात्मक की ओर ले जाने का एक कदम है. उन्होंने कहा कि अयोध्या का विकास चार चरणों में पूरा किया जाएगा. दीपावली पर यह पहले चरण का आयोजन है. इस मौके पर 135 करोड़ की लागत से विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास किया गया. 


मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार प्रदेश को दुनिया के पर्यटन का हब बनाएगी और इसकी शुरूआत हो चुकी है. अयोध्या पुराना वैभव प्राप्त करे, इस ओर कार्य किए जा रहे हैं. योगी ने कहा कि केंद्र सरकार के प्रयासों से हर किसी की अपनी छत और हर हाथ को रोजगार की परिकल्पना को साकार करने के लिए तेजी से काम किए जा रहे हैं. 

उन्होंने कहा कि जिसके पास अपना घर हो, घर में रोशनी हो, हर हाथ को काम हो, यही राम राज्य है. और राम राज्य का यह सपना उत्तर प्रदेश में 2019 तक पूरा हो जाएगा. 

ayodhya

सरयू के तट पर दीपदान करते अयोध्यावासी

मुख्यमंत्री ने कहा कि अयोध्या और अन्य पर्यटक स्थलों के विकास के लिए यूपी सरकार पूरी तरह प्रयासरत है. नदियों की संस्कृति और उनके जीवन को बचाने के लिए नदियों की आरती का कार्यक्रम शुरू किया है. 
 

ayodhya


इस मौके पर सरयू नदी के तटों पर दो लाख से अधिक मिट्टी के दीपकों से रोशनी की गई. बताया जा रहा है कि अयोध्या में  इस तरह का भव्य आयोजन अपनेआप में एक रिकॉर्ड है. 

बीजेपी ने हिमाचल प्रदेश के लिए सभी 68 सीटों पर घोषित किए उम्मीदवार, प्रेम कुमार धूमल सुजानपुर से लड़ेंगे चुनाव

Wednesday, 18 October 2017 16:51

हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है.   भारतीय जनता पार्टी ने बुधवार को सभी 68 सीटों के लिए अपने उम्मीदवार घोषित किए. हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल सुजानपुर से चुनाव लड़ेंगे. वहीं, कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए अनिल शर्मा मंडी के मंडी से चुनाव लड़ने की संभावना है. हिमाचल प्रदेश में 9 नवंबर को एक चरण में वोटिंग होगी और नतीजे 18 दिसंबर को आएंगे.

गौरतलब है कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप देने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित शीर्ष नेताओं ने शनिवार को बैठक की थी. प्रत्याशियों के चयन को लेकर करीब दो घंटे मंथन किया गया. बीजेपी के एक नेता ने बताया कि पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) ने 68 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव के लिए संभावित उम्मीदवारों के नामों पर दो घंटे से ज्यादा समय तक विचार विमर्श किया था.

बीजेपी की इस बैठक में हिमाचल प्रदेश के दो बार मुख्यमंत्री रहे प्रेम कुमार धूमल और सीईसी के सदस्य एवं केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा शामिल हुए थे. इन दोनों को मुख्यमंत्री पद के लिए सबसे ज्यादा संभावित विकल्पों के तौर पर देखा जा रहा है. स्वच्छ छवि एवं पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के साथ करीबी को देखते हुए जेपी नड्डा की संभावनाएं प्रबल लग रही हैं. बीजेपी ने हालांकि मुख्यमंत्री पद के लिए किसी उम्मीदवार का नाम नहीं लिया है.

हिमाचल प्रदेश चुनाव में 28 लाख रुपये के अधिकतम व्यय की सीमा..
हिमाचल प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने राजनीतिक दलों को आगामी प्रदेश विधानसभा चुनाव में 28 लाख रुपये की अधिकतम व्यय सीमा का पालन करने तथा 20,000 रुपये से ज्यादा के सभी भुगतान एकाउंट पेई चेक के जरिये करने के निर्देश दिए.

नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री रहे नेता ने खोली पोल, कहा- 13 साल में 33 गुना बढ़ गया है गुजरात का कर्ज

Wednesday, 18 October 2017 16:48

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पिछले कुछ समय से अपने ही वरिष्ठ नेताओं और पूर्व नेताओं की आलोचनाओं से घिरी हुई है। अबकी बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी पर वार करने वाले कभी गुजरात की बीजेपी सरकार में मुख्यमंत्री रह चुके हैं। सुरेश मेहता अक्टूबर 1995 से सितंबर 1996 तक राज्य के मुख्यमंत्री रहे थे। लेकिन उन्हें लगता है कि आगामी गुजरात चुनाव में बीजेपी की स्थिति डांवाडोल हो सकती है। मेहता के अनुसार गुजरात की बीजेपी सरकार किसान विरोधी और कार्पोरेट हित वाले फैसले लेती रही है। समाचार वेबसाइट द वायर को दिए इंटरव्यू में सुरेश मेहता ने दावा किया कि “गुजरात में इस बार विकास का गुजरात मॉडल नहीं बिकेगा…गुजरात मॉडल केवल शब्दों की बाजीगरी है। गुजरात की जमीनी सच्चाई कुछ और ही कहानी बयाँ करती है।” नरेंद्र मोदी को जब केशुभाई पटेल की जगह गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया गया तो मेहता उनके मंत्रिमंडल में थे।

सुरेश मेहता ने द वायर से कहा, “साल 2004 में भारत के नियंत्रक और महालेखा परिक्षक (कैग) ने गुजरात की वित्तीय स्थिति की समीक्षा की थी। उस समय राज्य सरकार पर चार से छह हजार करोड़ के बीच कर्ज था। इसलिए कैग ने राज्य को आगाह किया था कि वो कर्ज की दुष्चक्र में न फंसे। लेकिन सरकार ने कैग की बात को नजरअंदाज किया। राज्य सरकार द्वारा पेश किए गये ताजा बज़ट के अनुसार साल 2017 में गुजरात पर कर्ज बढ़कर  एक लाख 98 हजार करोड़ हो चुका है। ये मेरे आंकड़े नहीं हैं। ये सरकार के अपने आंकड़े हैं। जिसे फरवरी 2017 में राज्य सरकार ने गुजरात फिस्कल रिस्पांसबिलिटी एक्ट 2005 के तहत जारी बयान में घोषित किया गया।”

सुरेश मेहता ने गुजरात की बीजेपी सरकार पर किसानों को मिलने वाली छूट में कमी करने का भी आरोप लगाया। मेहता ने द वायर से कहा, “…उसी दस्तावेज से पता चलता है कि गुजरात सरकार की प्राथमिकता क्या है। कृषि मद में दी जाने वाली छूट (सब्सिडी) जिसका लाभ किसानों को मिलता है वित्त वर्ष 2006-07 से लगातार कम होती जा रही है। वित्त वर्ष 2006-07 में 195 करोड़ रुपये और वित्त वर्ष 2007-08 में 408 करोड़ रुपये की छूट दी गयी थी जो वित्त वर्ष 2016-17 में घटकर 80 करोड़ रुपये रह गयी है।”

मेहता ने आरोप लगाया कि गुजरात की बीजेपी सरकार किसानों की छूट कम करने के साथ ही अडानी और अंबानी जैसे कारोबारियों को फायदा पहुँचाने वाली ऊर्जा और पेट्रोकेमिकल सेक्टर में छूट बढ़ाती जा रही है। मेहता ने द वायर से कहा, “…इस (किसानों की) छूट की तुलना ऊर्जा और पेट्रोकेमिकल सेक्टर की दी जा रही छूट से करिए, जो अडानी और अंबानी चलाते हैं। वित्त वर्ष 2006-07 में इन सेक्टर को मिलने वाली 1873 करोड़ की छूट वित्त वर्ष 20-16-17 में बढ़कर 4471 करोड़ रुपये (संशोधित आंकड़े) हो गयी।” मेहता ने दावा किया कि गरीब और आम लोगों को प्रभावित करने वाला खाद्य एवं आपूर्ति का बजट भी बीजेपी सरकार ने 130 करोड़ रुपये से घटाकर 52 करोड़ रुपये कर दिया।

मेहता ने आरोप लगाया कि पीएम नरेंद्र मोदी ने घोषणा की थी कि सरदार वल्लभभाई पटेल की मूर्ति स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के लिए भी नर्मदा परियोजना फंड से पैसा दिया जा रहा है। मेहता ने दावा किया कि गुजरात के वित्त मंत्री ने विधान सभा में बताया कि नर्मदा प्रोजेक्ट फंड से तीन हजार करोड़ रुपये सरदार पटेल की मूर्ति बनाने के लिए दिए गए हैं। मेहता ने पूछा कि सरकार सिंचाई और किसानों के हित के लिए बनाए गए फंड का पैसा मूर्ति बनाने में कैसे खर्च कर सकती है? मेहता ने नरेंद्र मोदी को घेरते हुए कहा कि उनसे शीर्ष पर आने से पहले बीजेपी अलग तरह की पार्टी थी। मेहता ने द वायर से कहा कि उन्होंने नरेंद्र मोदी से साल 2002 में शुरू हुए मतभेदों के चलते ही साल 2007 बीजेपी छोड़ी थी।

 

ऋतिक के खिलाफ आमिर खान ने लिया कंगना रनौत का पक्ष! कहा-बायकॉट किया जाना गलत

Wednesday, 18 October 2017 16:45

कंगना-ऋतिक कॉन्ट्रोवर्सी को लेकर पूरा बॉलीवुड बंटता नजर आ रहा है। इसके चलते एक्ट्रेस कंगना रनौत को अलग-थलग किया जा रहा है। इसको लेकर आमिर खान ने कंगना का पक्ष लिया है। आमिर कंगना को लेकर कहते हैं कि यह उनके साथ गलत हो रहा है। बॉलीवुड में कंगना का बायकॉट किया जा रहा है जो कि गलत है, यह अनफेयर है। ग्रेपवाइन के अनुसार, आमिर कंगना के साथ खड़े हुए हैं। इसके चलते आमिर ने न सिर्फ कंगना को अपनी फिल्म ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ की स्क्रीनिंग पर इनवाइट किया।

रिपोर्ट्स के अनुसार आमिर इस बात से भी खफा हैं कि उन्हें पूरे बॉलीवुड ने कॉर्नर कर दिया है। आमिर ने अपनी पत्नी किरण राव के साथ कंगना को अंबानी हाउस में इनवाइट किया। वहीं आमिर की फिल्म की स्क्रीनिंग पर हुमा कुरैशी को भी इनवाइट किया गया। गौरतलब है, पिछले दिनों कंगना ने एक इंटरव्यू में बॉलीवुड सुपरस्टार ऋतिक रोशन पर गंभीर आरोप लगाए थे। वहीं उन्होंने आदित्य पंचोली को भी लपेटे में लिया।

वहीं ऋतिक ने खुद पर लगे आरोपों के जवाब में उन्होंने हाल ही में एक टीवी चैनल पर आकर सफाई पेश की थी। ऋतिक ने एक ओपन लेटर भी जारी किया जिसमें उन्होंने लिखा- सच यह है कि मैं इस लेडी से कभी नहीं मिला। हमने साथ में काम जरूर किया है। लेकिन हम प्राइवेट में कभी नहीं मिले। प्लीज समझिए मैं कोई ‘गुड बॉय’ इमेज बनाए नहीं बैठा हूं। मैं अपने फॉल्ट से अवेयर हूं, मैं भी इंसान हूं। मैं बल्कि खुद को प्रोटेक्ट कर रहा हूं, इन चीजों से जो बहुत सीरियस, सेंसिटिव और डिस्ट्रैक्टिंग हैं।

 

एक्ट्रेस ने बताया-प्रोड्यूसर ने कपड़े उतरवा लाइन में खड़ा करवाया, कहा था-अपनी न्यूड तस्वीरों से लो प्रेरणा

Wednesday, 18 October 2017 16:44

 

हॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री जेनिफर लॉरेंस ने फिल्म इंडस्ट्री में अपने संघर्ष के दिनों को याद किया है। उन्होंने बताया है कि किस तरह एक फिल्म प्रोड्यूसर ने उन्हें बिना कपड़ों के दूसरी अभिनेत्रियों के साथ खड़ा कर दिया था और उनकी बेइज्जती की थी। जेनिफर लॉरेंस एले वूमन प्रोग्राम में बोल रही थीं। जेनिफर लॉरेंस ने बॉलीवुड में अपने शुरुआती सफर को याद किया और कहा कि तब वो एक फिल्म पर काम कर थी, फिल्म की प्रोड्यूसर ने उनको कहा कि उन्हें दो सप्ताह में अपना 15 पाउंड वजन घटाना पड़ेगा। जेनिफर लॉरेंस ने कहा कि बाद में तेजी से वजन नहीं घटाने के लिए उन्हें इस प्रोजेक्ट से हटा दिया गया था। जेनिफर लॉरेंस ने इस सफर को याद करते हुए कहा, ‘इस वक्त एक महिला प्रोड्यूसर ने मुझे पांच अन्य महिलाओं के साथ बिना कपड़ों के खड़ा कर दिया, जो कि मुझसे काफी पतली थीं, हमलोग एक के बाद एक खड़े थे, इस दौरान मामूली तरीके से हमारे प्राइवेट पार्ट्स ढके हुए थे।’

जेनिफर लॉरेंस को एले वूमन सेरेमनी में सम्मानित किया गया। इस दौरान उन्होंने कहा कि ये काफी शर्मनाक और दुखदायी अनुभव था। आगे उन्होंने कहा कि इसी प्रोड्यूसर ने उन्हें कहा कि उसे अपनी नंगी तस्वीरों को देखकर प्रेरणा लेनी चाहिए और अपना वजन कम करने की कोशिश करनी चाहिए। जेनिफर लॉरेंस अपने इस अपमान को लेकर दूसरे प्रोड्यूसर के पास गईं, लेकिन यहां भी उन्हें बेइज्जती और शर्मनाक शब्द सुनने पड़े। लॉरेंस के मुताबिक, ‘इस प्रोड्यूसर ने मुझसे कहा पता नहीं लोग क्यों तुम्हें मोटी बताते हैं, मेरे विचार से तुम्हारी बॉडी फिट है।’ इसके बाद इस प्रोड्यूसर ने उनके शरीर को लेकर एक शर्मनाक टिप्पणी की।इस अभिनेत्री ने कहा कि उस वक्त को खुद असहाय और फंसा हुआ महसूस करती थी। जेनिफर बताती हैं कि मैंने खुद के साथ जो कुछ होने दिया उसके पीछे मैंने महसूस किया कि मुझे अपना करियर बनाने के लिए ऐसा करना ही पड़ेगा। हालांकि जेनिफर लॉरेंस अब चीजों को बदलना चाहती हैं। उन्होंने कहा, ‘ हमलोग एसी खतरनाक परिस्थितियों को नॉर्मल नहीं बनने देंगे। हमलोग इस कहानी को बदलेंगे और हर वैसे शख्स के लिए जो अपने सपने को पूरा करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं उनके लिए हालात बदलने की कोशिश करेंगे।’

 

 

कच्चे तेल की कीमत 56.59 डॉलर प्रति बैरल

Wednesday, 18 October 2017 16:43

भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की अंतर्राष्ट्रीय कीमत मंगलवार को 56.59 डॉलर प्रति बैरल दर्ज की गई। यह सोमवार को दर्ज कीमत 56.37 डॉलर प्रति बैरल से अधिक रही। पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अधीन पेट्रोलियम नियोजन एवं विश्लेषण प्रकोष्ठ (पीपीएसी) द्वारा बुधवार को यह जानकारी दी गई। 

रुपये के संदर्भ में भारतीय बास्केट के कच्चे तेल की कीमत मंगलवार को बढ़कर 3673.70 रुपये प्रति बैरल हो गई, जबकि सोमवार को यह 3650.26 रुपये प्रति बैरल थी। रुपया मंगलवार को कमजोर होकर 64.92 रुपये प्रति डॉलर के स्तर पर बंद हुआ। जबकि सोमवार को यह 64.76 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था।

सेंसेक्स में 25 अंकों की गिरावट

Wednesday, 18 October 2017 16:42

देश के शेयर बाजारों में बुधवार को गिरावट का रुख रहा। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 24.81 अंकों की गिरावट के साथ 32,584.35 पर और निफ्टी 23.60 अंकों की कमजोरी के साथ 10,210.85 पर बंद हुआ। बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सुबह 90.6 अंकों की गिरावट के साथ 32,518.56 पर खुला और 24.81 अंकों या 0.08 फीसदी की गिरावट के साथ 32,584.35 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में सेंसेक्स ने 32,670.32 के ऊपरी और 32,462.85 के निचले स्तर को छुआ। 

बीएसई के मिडकैप सूचकांक में तेजी और स्मॉलकैप सूचकांक में गिरावट दर्ज की गई। बीएसई का मिडकैप सूचकांक 1.48 अंकों की तेजी के साथ 16,115.98 पर और स्मॉलकैप सूचकांक 2.76 अंकों की गिरावट के साथ 17,063.39 पर बंद हुआ। 

नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 25.05 अंकों की गिरावट के साथ सुबह 10,209.40 पर खुला और 23.60 अंकों या 0.23 फीसदी की गिरावट के साथ 10,210.85 पर बंद हुआ। दिनभर के कारोबार में निफ्टी ने 10,236.45 के ऊपरी और 10,175.75 के निचले स्तर को छुआ।

बीएसई के 19 में से 5 सेक्टरों में तेजी रही। इनमें ऊर्जा (2.50 फीसदी), उपभोक्ता सेवाएं (1.31 फीसदी), तेल और गैस (1.24 फीसदी), बिजली (1.21 फीसदी) और तेज खपत उपभोक्ता वस्तु (0.14 फीसदी) शामिल रहे।

बीएसई के गिरावट वाले सेक्टरों में प्रमुख रहे- दूरसंचार (1.86 फीसदी), बैंकिंग (1.79 फीसदी), वित्त (0.86 फीसदी), स्वास्थ्य सेवाएं (0.80 फीसदी) और प्रौद्योगिकी (0.67 फीसदी)। 

चेल्सी फुटबाल क्लब ने धारावी में लगाई कोचिंग क्लिनिक

Wednesday, 18 October 2017 16:41

लंदन फुटबाल क्लब चेल्सी क्लब के फाउंडेशन ने मंगलवार को मुंबई में स्थित धारावी की झुग्गी बस्ती में एक कोचिंग क्लीनिक का आयोजन किया। अपने ट्रॉफी टूर के हिस्से के रूप में चेल्सी ने स्थानीय प्रशिक्षकों के लिए कोचिंग सत्र और बच्चों के लिए कोचिंग सत्र लगाया।

स्थानीय गैर-सरकारी संगठन रीयलिटीगिव्स के साथ मिलकर चेल्सी फाउंडेशन के प्रशिक्षकों के समूह द्वारा सत्र आयोजित किया गया।

चेल्सी फाउंडेशन के वरिष्ठ विकास अधिकारी, स्टीवन विनेट ने आईएएनएस को बताया, "हम यहां पर एक फाउंडेशन और एक क्लब के रूप में मुंबई के समुदायों से जुड़ने के लिए आए हैं। हमारे पास चार कोच हैं जोकि यहां हमारे साथ भाग लेने वाले बच्चों को अनुभव और फुटबॉल का ज्ञान देने के लिए आए हैं।"

विनेट ने कहा, "धारावी के अनुभव ने हमें विनम्र बनाया है। हम हर किसी को चेल्सी का अनुभव देना चाहते हैं और धारावी का दौरा इसीलिए था।"

स्टीवन ने कहा कि चेल्सी क्लब मुंबई में 21 अक्टूबर तक कोचिंग क्लिनिक आयोजित करने के बाद थाईलैंड, जापान और अमेरिका जाएगा।

हुआ खुलासा... हरियाणवी डांसर हर्षिता की मौत के पीछे है ये शख्स

Wednesday, 18 October 2017 16:39

हरियाणवी डांसर और सिंगर हर्षिता दहिया की मौत के बाद उनकी बहन ने मीडिया के सामने कई राज खोले हैं. जिसमें पता लगा कि हर्षिता की मौत किसने की. हर्षिता की बहन के मुताबिक, उसके पति यानी हर्षिता के जीजा ने ही उसे मरवाया है. लता ने इस हत्या के पीछे की वजह भी बताई. बड़ी बहन का कहना है कि हर्षिता उनकी मां की हत्या की चश्मदीद गवाह थी.

बता दें, लता के पति और हर्षिता का जीजा दिनेश इन दिनों तिहाड़ जेल में है. हाल ही में हर्षिता ने अपने जीजा पर बलात्कार का भी आरोप लगाया था और इस मामले में उन्होंने एक केस भी दर्ज करवाया था. अब हर्षिता के इस बयान के बाद इस मामले में एक नया मोड़ आ गया है. 

harshita dahiya haryanvi singer shot facebook



कौन है हर्षिता दहिया
लोक गायिका हर्षिता दहिया का 'सुहागरात' गाना काफी फेमस हुआ था. वह अलग-अलग सिंगर के साथ अभी तक 7 से ज्यादा एलबम कर चुकी थीं. हर्षिता लगभग डेढ़ साल से स्टेज शो पर डांस व सिंगिंग करके फेमस हुई थीं. वह इंटरनेट पर भी काफी पॉपुलर थीं. अपने फेसबुक पेज पर वह लगातार अपने वीडियो अपलोड करती रहती थीं. वे मूल रूप से सोनीपत के मोहम्मदपुर गांव की रहने वाली थी, लेकिन वह काफी लंबे समय से नरेला रह रही थीं. हर्षिता के माता-पिता की मौत हो चुकी है. बताया जाता है कि उसके परिवार में दो बहनें और हैं, जिनकी शादी हो चुकी है.
 

harshita dahiya


मां की भी हुई थी हत्या
पुलिस के अनुसार हर्षिता की मां की मौत हो चुकी है. उसकी मां को जीजा ने मार दिया था. जीजा ने उसे व उसकी बहन को भी जान से मारने की धमकी दे रखी थी. हर्षिता की बहन भी जीजा के चंगुल से छूटकर भाग गई थी. 

फेसबुक पर करती थीं वीडियो अपलोड
हर्षिता भी पिछले लगभग डेढ़ साल से स्टेज शो पर डांस व सिंगिंग करके फेमस हुई थीं. वह इंटरनेट पर भी काफी पॉपुलर थी. अपने फेसबुक पेज पर वह लगातार अपने वीडियो अपलोड करती रहती थीं.

अब Whatsapp से पता चल जाएगा कहां हैं आपकी 'गर्लफ्रेंड', बस करना होगा ये

Wednesday, 18 October 2017 16:38

वाट्सऐप ने लोगों की जिंदगी बदल दी है. हर किसी का काम अब वाट्सऐप पर ही होता है. वाट्सऐप भी हर साल इसमें नए फीचर्स जोड़ रहा है. कंपनी ने नया फीचर पेश किया है जो कि यूजर्स को अपने कॉन्टेक्ट्स पर लाइव लोकेशन शेयर करने की सुविधा देगा. यह फीचर आने वाले कुछ हफ्तों में एंड्राइड और आईओएस दोनों यूजर्स के लिए रोल आउट होना शुरू होगा.

यूं तो आप व्हॉट्सऐप पर पहले भी अपनी वर्तमान लोकेशन भेज सकते थे, लेकिन वह लाइव अपडेट नहीं होती थी. अब नए फीचर्स के जरिए आप किसी को भी अपनी लाइव लोकेशन भेज सकते हैं, जो लगातार आपकी लोकेशन के बारे में दोस्त को बताता रहेगा.
 

whatsapp


हालांकि ऐसा नहीं है कि एक बार शेयर करने पर यह हमेशा आपकी लोकेशन बताता रहेगा. यह फीचर थोड़ी देर ही काम करेगा, जिसके बाद अगर आप फिर से लाइव लोकेशन बताना चाहते हैं तो आपको फिर से शेयर करनी होगी. व्हॉट्सऐप के मुताबिक, आप किसी को भी चैट या ग्रुप में अपनी लाइव लोकेशन भेज सकते हैं. 

ऐसे करेगा काम
* इसके लिए आपको वाट्सऐप चैट में जाकर Attach आइकन पर क्लिक करना होगा.
* यहां लोकेशन शेयर करते हुए आपसे समय सीमा पूछी जाएगी.
* समय सीमा में 15 मिनट,  1 घंटा और 8 घंटा के तीन विकल्प दिए जाएंगे.
* हालांकि यह नया फीचर व्हॉट्सऐप के नए अपडेट के साथ दिया जा सकता है.

राहुल गांधी ने लुधियाना में RSS कार्यकर्ता की हत्या की निंदा की, बोले- हिंसा अस्वीकार्य

Wednesday, 18 October 2017 14:51

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने  आरएसएस नेता रवीन्द्र गोसाईं की हत्या की आज कड़ी भर्त्सना करते हुए कहा कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. लुधियाना के जोधेवल इलाके में स्थित गगनदीप कॉलोनी में मंगलवार सुबह आरएसएस नेता रवींद्र गोसाईं की अज्ञात लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी. राहुल ने इस हत्या की निंदा करते हुए कहा कि हिंसा अस्वीकार्य है.

उन्होंने आज ट्वीट कर कहा, लुधियाना में आरएसएस नेता रवीन्द्र गोसाईं की हत्या की कड़ी निंदा करता हूं. हिंसा अस्वीकार्य है. दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए. ">पंजाब के लुधियाना में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता की आज सुबह दो बाइक सवारों से गोली मारकर हत्या कर दी. संघ का कार्यकर्ता सुबह शाखा से लौट रहा था. पुलिस ने बताया कि रवींद्र गोसाईं जिनकी उम्र 60 वर्ष थी, को कैलाश नगर इलाके में गोली मार दी गई. वह शाखा से अपने घर जा रहे थे. पुलिस का कहना है कि रवींद्र को काफी करीब से गोली मारी गई है. हमलावरों की अभी पहचान नहीं हो पाई है.  

गोसाईं संघ के प्रचारक थे. वे लुधियाना में संघ का कार्य देख रहे थे. उल्लेखनीय है कि पिछले साल एक अन्य वरिष्ठ संघ के नेता की पंजाब में ही हत्या कर दी गई थी. जालंधर सिटी में काफी व्यस्त इलाके में ब्रिगेडियर जगदीश गगनेजा को बाइक सवार दो युवा लोगों ने गोली मार दी थी. पुलिस अभी तक इन हत्यारों का पता नहीं लगा पाई है.  इस हमले में गगनेजा, जो पंजाब संघ की इकाई के वरिष्ठ उपाध्यक्ष थे, गंभीर रूप से घायल हो गए थे और बाद में अस्पताल में उन्होंने दम तोड़ दिया था.

PM नरेंद्र मोदी की नोटबंदी का समर्थन करने वाले कमल हासन ने कहा 'मैं माफी चाहता हूं...'

Wednesday, 18 October 2017 14:01

तमिलनाडु: देश में हुई नोटबंदी की तरीफ कर चुके एक्‍टर कमल हासन ने अब अपनी इस तारीफ पर यूटर्न ले लिया है. कमल हासन ने प्रधानमंत्री मोदी का नोटबंदी पर सपोर्ट करने से लिए माफी मांगी है. हाल ही में राजनीति में आने के अपने इरादे साफ कर चुके कमल हासन ने कहा, 'अगर प्रधानमंत्री अपनी गलती मान लें, तो मैं उन्‍हें सलाम करुंगा..' कमल हासन ने अपनी यह बात तमिल मैगजीन में छपने वाले अपने एक कॉलम में लिखी है. नोटबंदी की तारीफ कर चुके कमल हासन ने कहा, 'अपनी गलती मानना और उसे सुधारना अच्‍छे राजनैतिज्ञ की पहचान है.' बता दें कि पिछले साल 8 नवंबर को देश में लागू हुई नोटबंदी के बाद कमल हासन ने ट्वीट किया था, 'मिस्‍टर मोदी को सलाम. इस कदम की सारी राजनीतिक विचारधाराओं से ऊपर उठकर तारीफ होनी चाहिए.'

लगभग 2 महीने पहले कमल हासन ने यह घोषणा की थी कि वह जल्‍द ही खुद की एक राजनीति पार्टी का गठन करेंगे, जो लोकतांत्रिक सिस्‍टम के भीतर से भ्रष्‍टाचार मिटाने के लिए होगी. कमल हासन ने आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी कुछ समय पहले तमिलनाडु में मुलाकात की थी. केजरीवाल से मिलने के बाद हासन ने कहा था, 'दिल्ली के सीएम आज मुझसे मिलने आए, मेरे लिए यह सम्मान की बात है. उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ी है. उनकी छवि करप्शन से लड़ने को लेकर रही है.' कमल हासन ने केजरीवाल की काफी तारीफ की थी.

बता दें कि पिछले साल 8 नवंबर को हुई नोटबंदी के दौरान देशभर में 500 और 1000 के नोट बंद कर दिए गए थे और उसकी जगह 500 के नए और 2000 के नोट लाए गए थे. नोटबंदी के बारे में हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने एक संसदीय समिति को बताया है उसे यह नहीं पता है कि 500 और 1000 के नोटों को बंद करने के बाद कितनी बेहिसाबी नकदी को वैध धन में बदला गया है. आरबीआई ने यह भी कहा कि उसके पास इस बारे में कोई सूचना नहीं है कि नोटबंदी से कितना कालाधन खत्म हुआ है. आरबीआई ने कहा कि नोटबंदी के बाद अनुमानत: 15.28 लाख करोड़ रुपये के बंद किए गए नोट लौटे हैं.

#MeToo : 'मैं 14 साल की थी और वह 36 का...' प्रियंका चोपड़ा की को-एक्‍टर ने किया यौन शोषण का खुलासा

Wednesday, 18 October 2017 13:58

दुनिया भर में यौन उत्‍पीड़न के खिलाफ खुलकर समाने आ रही महिलाओं में अभी तक कई हॉलीवुड एक्‍ट्रेस का नाम सामने आ चुका है. अब बुधवार को ऑस्‍कर अवॉर्ड जीतने वाली पहली मूक एक्‍ट्रेस मार्ली माटलिन ने भी अपने साथ हुई यौन शोषण की घटना का खुलासा किया है. मार्ली हाल ही में बॉलीवुड एक्‍ट्रेस प्रियंका चोपड़ा के अमेरिकन टीवी शो 'क्‍वांटिको 3' से भी जुड़ी हैं. वह इस शो के इस नए सीजन में प्रियंका के साथ नजर आएंगी. मार्ली ने सोशल मीडिया पर अपना एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा, 'मैं 14 साल की थी और वह 36 साल का था. मैं गूंगी हो सकती हूं, लेकिन चुप्‍पी वह आखिरी चीज होगी जो आप मेरी तरफ से सुन पाएंगे.' बता दें कि मार्ली को उनकी पहली फिल्‍म 'चिल्‍ड्रन ऑफ ए लेसर गॉड' के लिए बेस्‍ट एक्‍ट्रेस का ऑस्‍कर पुरस्‍कार दिया गया. महज 21 साल की उम्र में ऑस्‍कर पुरस्‍कार जीतने वाली वह पहली एक्‍ट्रेस भी हैं.

मार्ली ने अपनी यह कहानी #MeToo हैशटैग के साथ शेयर की है. बता दें कि हॉलीवुड एक्‍ट्रेस एलिसा मिलानो के #MeToo अभियान के तहत दुनियाभर की महिलाएं अपने साथ हुई यौन शोषण की घटनाओं का खुलासा कर रही हैं. इस कैंपेन को भारत समेत दुनिया भर में जबरदस्‍त समर्थन मिल रहा है और सिर्फ महिलाएं ही नहीं, बल्कि कई पुरुष भी महिलाओं के साथ होने वाली यौन घटनाओं का विरोध कर रहे हैं. बता दें कि हॉलीवुड एक्‍ट्रेस एलिसा मिलानो ने अपने साथ हुए यौन शोषण का खुलासा करते हुए दुनियाभर की महिलाओं से आह्वान किया है कि वह भी अपने साथ हुई इस तरह की घटनाओं के बारे में बताए ताकि यह साबित किया जा सके कि यह कोई छोटी या नजरअंदाज किए जा सकने वाली घटना नहीं है.
 
भारत की बात करें तो प्रसिद्ध कॉमेडियन मल्लिका दुआ भी  बचपन में अपने साथ हुई यौन शोषण की घटना का खुलासा कर चुकी हैं. कॉमेडियन मल्लिका दुआ ने अपने फेसबुक और सोशल मीडिया पर एक पोस्‍ट के तहत बताया कि वह 7 साल की उम्र में उनके साथ भी यौन शोषण की घटना हुई है.

एलिसा के इस ट्वीट के बाद दुनियाभर से महिलाएं #MeToo हैशटैग के साथ अपने साथ हुई घटनाओं को शेयर कर रही हैं. एलिसा के इस ट्वीट पर अभी तक 27,000 से ज्‍यादा ट्वीट आ चुके हैं जिसमें हजारों महिलाओं ने अपने साथ हुई घटनाओं का खुलासा किया है.

महिलाओं के लिए घातक है जहरीली हवा, ब्रेस्ट कैंसर तक का खतरा

Wednesday, 18 October 2017 13:51

 इस मौसम में बहने वाली जहरीली हवा हर किसी के लिए नुकसानदेह है और खासतौर पर दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वाहनों से निकलने वाले धुंए, पड़ोसी राज्यों में धान की पराली जलाने से होने वाले प्रदूषण के साथ ही दीवाली के मौके पर होने वाली आतिशबाजी बच्चों और बुजुर्गों के लिए तो घातक है ही, महिलाओं के लिए भी काफी नुकसानदेह है. विशेषज्ञों का दावा है कि इस प्रदूषण से ब्रेस्ट कैंसर तक हो सकता है.

इस मौसम में वायु प्रदूषण अब बड़ा चिंता का कारण बन चुकी है. पिछले दिनों उच्चतम न्यायालय द्वारा एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक लगाये जाने की पृष्ठभूमि में यह बहस और तेज हो गयी है.

क्या कहते हैं एक्सपर्ट-

इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल के सर्जिकल ओंकोलॉजी विभाग के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ सिद्धार्थ साहनी के अनुसार, प्रदूषणकारी तत्व शरीर के लिए बहुत नुकसानदायक हैं. कुछ प्रदूषणकारी तत्वों की वजह से कैंसर होने का खतरा होता है और महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर की आशंका भी रहती है.

उन्होंने कहा कि ब्रेस्ट कैंसर के 10 प्रतिशत कारण आनुवांशिक कारकों से जुड़े होते हैं लेकिन 90 प्रतिशत वजहें बाहरी होती हैं. इनमें पर्यावरण संबंधी कारक निश्चित रूप से एक वजह है.

मेदांता, गुड़गांव की रेडियोलॉजी विभाग की एसोसिएट निदेशक डॉ ज्योति अरोरा ने ब्रेस्ट कैंसर को भारत में बीमारियों से महिलाओं की मौत की दूसरी बड़ी वजह बताते हुए कहा, ‘‘हमने देखा है कि वायु प्रदूषण से स्वास्थ्य संबंधी मुद्दे बड़ी मात्रा में जुड़े हैं. नाइट्रोजन डाइ ऑक्साइड, सल्फर डाइ ऑक्साइड, कार्बन मोनो ऑक्साइड और लैड जैसे नुकसानदेह तत्वों से दमा, किडनी और फेफड़ों को नुकसान के साथ ही महिलाओं को भी काफी खतरा होता है.’’

उन्होंने कहा कि प्रदूषण और ब्रेस्ट कैंसर का यूं तो आपस में कोई सीधा संबंध नहीं है लेकिन वायु प्रदूषण में ऐसे कई जहरीले तत्व होते हैं जिसमें अलग अलग लोगों को उनकी जीवनशैली के आधार पर अलग अलग नुकसान होते हैं.

क्या कहते हैं आंकड़े-

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत में 2020 तक कैंसर के 17.30 लाख से अधिक नये मामले सामने आ सकते हैं और इस बीमारी से 8.7 लाख लोगों की मौत की आशंका है इनमें सर्वाधिक जिम्मेदार कैंसर में ब्रेस्ट कैंसर, उसके बाद लंग और सर्विक्स कैंसर होंगे.

आईसीएमआर की एक और रिपोर्ट के अनुसार, भारत में हर साल ब्रेस्ट कैंसर के लगभग 1.44 लाख नये मामले सामने आते हैं और यह शहरी भारत में महिलाओं के लिए सबसे बड़ा खतरा बनता जा रहा है.

कोलंबिया एशिया अस्पताल (पटियाला) में गायनोकोलाजिस्ट डॉ जी कंबोज ने भी ब्रेस्ट कैंसर और वायु प्रदूषण के बीच तार जुड़े होने की बात मानी. उन्होंने कहा कि जहरीली हवा में पाई जाने वाली नाइट्रोजन डाई ऑक्साइड ब्रेस्ट कैंसर के लिए जिम्मेदार हो सकती है.

डॉ साहनी के अनुसार 2016 में आई एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत के महानगरों में प्रत्येक 11 में से एक महिला को पूरे जीवनकाल में कभी भी ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा होता है. 2002 में भारत में महिलाओं की मौत के लिए ब्रेस्ट कैंसर 246वां कारण था जो दस साल बाद यानी 2012 में महिलाओं की मृत्यु के तीन प्रमुख कारणों में शुमार हो गया.

ट्रंप ने व्हाइट हाउस में मनाई दिवाली, जमकर की भारतीयों की तारीफ

Wednesday, 18 October 2017 13:42

वॉशिंगटन: अमेरिक के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने व्हाइट हाउस में अपनी पहली दिवाली मनाते हुए देश में विज्ञान, दवाओं, कारोबार और शिक्षा के क्षेत्र में भारतीय अमेरिकियों के असाधारण योगदान को सराहा.

दिवाली आयोजन में ट्रंप के साथ संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्कली हेली, ‘सेंटर्स फॉर मेडीकेयर एंड मेडिकैड सर्विसेज’ की प्रशासक सीमा वर्मा, ‘यूएस फेडरल कम्युनिकेशन्स कमीशन’ के अध्यक्ष अजीत पई और मुख्य उप प्रेस सचिव राज शाह ने हिस्सा लिया.

ट्रंप ने ओवल कार्यालय में दिवाली मनाए जाने का वीडियो साझा करते हुए फेसबुक पर एक पोस्ट किया, ‘‘जब हम (दिवाली) मनाते हैं तो हमें खासतौर पर भारत के लोगों को याद करते हैं, जिन्होंने दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र का निर्माण किया है. भारत हिन्दू धर्म का घर है.’’ राष्ट्रपति ट्रंप ने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अपने ‘मजबूत रिश्तों’ को काफी अहमियत देते हैं.

ट्रंप ने कहा कि वह कई प्रशासनिक अधिकारियों और भारतीय अमेरिकी समुदाय के नेताओं के साथ रोशनी का त्यौहार दिवाली के आयोजन शिरकत करके काफी सम्मानित महसूस कर रहे हैं.

व्हाइट हाउस की ओर से जारी एक तस्वीर के मुताबिक, राष्ट्रपति की बेटी इवांका भी जश्न में शामिल हुईं.

अपनी टिप्पणी में ट्रंप ने कहा कि भारतीय अमेरिकियों ने देश और दुनिया में असाधारण योगदान दिया है.

ट्रंप ने कहा, ‘‘आपने कला, विज्ञान, दवाओं, व्यापार और शिक्षा के क्षेत्र में अभूतपूर्व योगदान दिया है. अमेरिका खास तौर से सशस्त्र सेना में बहादुरी के साथ सेवा देने वाले भारतीय-अमेरिकियों का आभारी है.’’ उन्होंने कहा कि दिवाली हिन्दुओं का सबसे खास त्यौहार है.

व्हाइट हाउस में दिवाली मनाने की परंपरा राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू. बुश ने अपने कार्यकाल में शुरू की थी. हालांकि बुश ने व्यक्तिगत रूप से कभी दिलावी समारोह में भाग नहीं लिया.

 

बिग-बॉस 11: रामा-रामा क्या है ये ड्रामा, ‘जानी दुश्मन’ विकास ने शिल्पा के माथे पर किया ‘किस’

Wednesday, 18 October 2017 13:35

बिग-बॉस सीजन 11 को एपिसोड 16 में शिल्पा शिंदे और विकास में दोस्ती देखने को मिली। वहीं दोनों एक दूसरे के गले भी मिले। जी हां, बेशक आपको यकीन न आए। लेकिन कल के एपिसोड में ऐसा हुआ। ये तो आप जानते ही हैं कि विकास और शिल्पा के बीच शो के पहले दिन से ही छत्तिस का आंकड़ा था। वहीं अब तक के शो के हर एपिसोड में शिल्पा विकास को टीज करती हुई ही नजर आई और विकास उनसे परेशान होते नजर आए। लेकिन इस बीच विकास का कई बार शिल्पा के प्रति रुख नरम हुआ। वहीं शिल्पा विकास के प्रति खुंखार ही बनी रहीं।

अब कल के एपिसोड में विकास शिल्पा को कहते हैं कि आज के लिए जो भी गुस्सा है उसे त्याग दो। विकास शिल्पा से कहते हैं कि हम आज के लिए दोस्त बन जाते हैं। हम आज पिछला कुछ भी मैटर डिस्कस नहीं करेंगे। शिल्पा पहले अजीब हाव-बाव दिखाती हैं। लेकिन विकास के फोर्स करने पर वह मान जाती हैं। तभी विकास शिल्पा को अपने गले लगा लेते हैं। यह देख घर के सारे सदस्य खुशी से चिल्लाते हैं। इसके बाद शिल्पा विकास से हंसते हुए कहती हैं, ये आप क्या कर रहे हैं, ‘अरे, बिग-बॉस देखिए ये क्या हो रहा है। ‘

वहीं घर में बिग-बॉस घर वालों को नया टास्क देते हैं जिसमें घरसदस्यों को दो भागों में बांट दिया जाता है। विकास और पुनीश को कैप्टेन बनाया जाता है। वहीं इस टास्क में कार्य संचालक विकास को बनाया जाता है। क्योंकि विकास इस वक्त घर के कप्तान भी हैं इसलिए उन पर अनुशास न को लेकर ज्यादा एक्सपेक्टेशन बढ़ जाती है। इधर, टास्क के दौरान पुनीश की टीम विकास को खूब टॉर्चर करती है। वहीं इस बीच विकास की आंख में भूसा चला जाता है। विकास दर्द के मारे खूब चिल्लाके हैं, वहीं बिग-बॉस विकास की हेल्प के लिए डॉक्टर को बिग-बॉस के घ र के अंदर भेजते हैं। इसके बाद विकास गिव-अप कर देते हैं। विकास इस दौरान पुनीश पर हाथ चला देते हैं, जिसकी सजा उन्हें बिग-बॉस से मिलती है। बिग-बॉस विकास से कैप्टेनशिप छीन लेते हैं और उन्हें जेल में भी डाल देते हैं।

 

7th Pay Commission Rajasthan: राजस्थान सरकार ने 12 लाख कर्मचारियों को दिया तोहफा, बढ़कर आएगी अक्टूबर की सैलरी

Wednesday, 18 October 2017 13:33

सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों को राजस्थान सरकार ने अपने यहां लागू कर दिया है। इससे राज्य के 12 लाख कर्मचारियों को फायदा होगा। राजस्थान सरकार ने दिवाली पर अपने कर्मचारियों को यह तोहफा दिया है। कर्मचारियों को बढ़ी हुई सेलरी अक्टूबर से ही मिलेगी। राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि हमने वादा किया था कि सातवें वेतन आयोग का फायदा कर्मचारियों को 2017-18 में दे दिया जाएगा। मुझे यह बताते हुए खुशी है कि हम इसे अक्टूबर से ही लागू कर रहे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि वेतन अंतर, भत्ते और बकाया के मामलों की जांच के लिए एक पैनल अधिकृत किया गया है। साथ ही यह भी कहा कि राज्य सरकार अपने कर्मचारियों को शासन का आधार मानती है और उनके कल्याण के प्रति संवेदनशील है।

आपको बता दें कि केंद्र सरकार न्यूनतम वेतन को 18,000 रुपये से बढ़ाकर 21,000 रुपये करने पर विचार कर रही है। न्यूनतम वेतन 18,000 रुपए करने की 7 वें वेतन आयोग द्वारा सिफारिश की गई है और कैबिनेट की मंजूरी भी मिल गई है। इसके अलावा सरकार फिटमेंट फेक्टर को भी बढ़ाने पर विचार कर रही है। सरकार फिटमेंट फेक्टर को 2.57 से बढ़ाकर 3.00 करने पर विचार कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, फाइनैंस मिनिस्टर अरुण जेटली द्वारा बनाई गई  नेशनल एनोमली कमेटी (NAC) न्यूनतम वेतन में 17 फीसदी और बढ़ोतरी की सिफारिश कर सकती है। कमेटी न्यूनतम वेतन को 18,000 से बढ़ाकर 21,000 रुपए करने की सिफारिश कर सकती है। हालांकि, सरकार न्यूनतम वेतन बढ़ाने के बाद एरियर नहीं देगी। सरकार न्यूनतम सैलरी बढ़ाने के बाद एरियर देकर सरकारी खजाने पर और बोझ नहीं डालना चाहती है।

पाकिस्तान: बलूचिस्तान के क्वेटा में बम धमाका

Wednesday, 18 October 2017 13:29

पाकिस्तान के दक्षिण पश्चिमी शहर क्वेटा में पुलिस के एक ट्रक को निशाना बनाकर किए गए बम विस्फोट में कम से कम सात पुलिसकर्मी मारे गए और 22 अन्य घायल हो गए। पुलिस ने यह जानकारी दी है। ‘डॉन न्यूज’ की खबर में बताया गया है कि पुलिस का एक वाहन 35 पुलिसर्किमयों को लेकर क्वेटा सिब्बी रोड पर सरियाब मिल इलाके से गुजर रहा था। शुरुआती खबरों के अनुसार, सुरक्षा सूत्रों ने उसी दौरान सड़क के किनारे बम विस्फोट होने का दावा किया।

क्वेटा के सरकारी अस्पताल के प्रवक्ता वासिम बेग ने सात लोगों की मृत्यु होने की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि घायलों को अस्पताल की आपात सेवा इकाई में लाया गया है। बलूचिस्तान के गृह मंत्री सरफराज बुगती ने हमले की निंदा करते हुए मौतों की पुष्टि की। 22 घायलों का क्वेटा के अस्पताल में इलाज चल रहा है। गृह मंत्री ने कहा ‘‘आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई खत्म नहीं हुई है। इस लड़ाई में बलूचिस्तान आगे है। जब तक इलाके में एक भी आतंकवादी हैं, तब तक हम नहीं रूकेंगे।’’

उन्होंने कहा ‘‘यह कायरतापूर्ण हमला हमारे सुरक्षा बलों को अपने दायित्व का निर्वाह करने से रोक नहीं सकेगा।’’ उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के क्वेटा शहर में ही पिछले साल भी पुलिस ट्रेनिंग सेंटर पर एक बड़ा आतंकी हमला हुआ था। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस आतंकी हमले में 60 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 118 से ज्यादा पुलिसवाले घायल हो गए थे। हमले में 3 आतंकी भी मारे गए थे। यह हमला पाकिस्तान में पिछले साल के सबसे बड़े आतंकी हमलों माना जाता है।

जानकारी के मुताबिक, छह हथियारबंद हमलावर क्वेटा पुलिस ट्रेनिंग सेंटर के हॉस्टल में घुस आए थे और अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। एक हमलावर ने सुसाइड जैकेट पहनी हुई थी। आतंकियों ने पुलिसवालों को बंधक बना लिया था। पाक मीडिया के मुताबिक, जिस वक्त यह हमला हुआ था, उस वक्त पुलिस ट्रेनिंग सेंटर में कम से कम 600 कैडेट, वहीं अकेले हॉस्टल में 200 कैडेट मौजूद थे। पाकिस्तान अखबार डॉन के मुताबिक, 5-6 आतंकियों ने रात में करीब 11 बजे इस हमले को अंजाम दिया था। हमलावर सामने के गेट से हॉस्टल के अंदर दाखिल हुए थे।

 

 

लाख टके का सवाल, लालू यादव आजकल CBI की इतनी तारीफ क्यों करते हैं?

Wednesday, 18 October 2017 12:38

पटना: राजद अध्यक्ष लालू यादव कई हफ्तों तक बाहर रहने के बाद पटना लौट आए हैं. वह आजकल अपने हर मिलने वाले के सामने सीबीआई के अधिकारियों की तारीफ़ करना नहीं  भूलते. लालू के अनुसार- जब एजेंसी के मुख्यालय पर उनके  साथ पूछताछ चल रही थी तब लंच के समय उनका पसंदीदा भोजन भात, दाल और आलू का चोखा खिलाया गया, लेकिन जब उन्हें खैनी की तलब हुई तब उन्होंने कहा कि अब जवाब नहीं दे सकते तब सीबीआई अधिकारी बाहर खड़ी उनकी कार से खैनी का डिब्बा ले आए.

हालांकि सीबीआई अधिकारियों का कहना है कि लालू यादव ने खाना खाने के बाद या खैनी खाने के बाद अधिकांश सवालों का जवाब गोलमोल दिया. कई सवालों का जवाब वह यह कहकर टाल गए कि अब ये पुरानी बात है और उन्हें याद नहीं. कुछ सवालों का जवाब उन्होंने लिखित देने का वादा भी किया.
 
लालू यादव से यह पूछताछ रेलवे के पुरी और रांची में दो होटल के बदले सस्ते दाम पर पटना में तीन एकड़ जमीन लेने का मामला है. हालांकि लालू ने जांच एजेंसी के अधिकारियों के सामने अपने कार्यकाल में रेलवे को कैसे मुनाफ़ा हुआ, उसकी पूरी कहानी ज़रूर सुनाई.
 
फिलहाल इस मामले में तेजस्वी यादव से भी पूछताछ हुई है और इस घोटाले की जांच आयकर विभाग और प्रवर्तन निदेशालय भी कर रहा है. माना जा रहा हैं कि इस मामले में सीबीआई जल्द इन लोगों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगी. सीबीआई ने लालू यादव के पटना स्थित घर पर जुलाई में छापा भी मारा था.
गौरतलब है कि नीतीश कुमार के साथ महागठबंधन टूटने के पीछे इस घोटाले को एक मुख्य कारण माना जाता है.  नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव को सार्वजनिक रूप से सफ़ाई देने के लिए कहा था. लालू यादव का कहना है कि तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार से कहा था ‘ चाचा आप ही बता दीजिए या लिखवा दीजिए और मैं जाके बोल दूंगा."

जम्मू एवं कश्मीर गोलीबारी में 5 प्रदर्शनकारी घायल

Wednesday, 18 October 2017 12:37

जम्मू एवं कश्मीर के अनंतनाग जिले में बुधवार को सुरक्षा बलों की ओर से हुई गोलीबारी में पांच नागरिक घायल हो गए। ये नागरिक विरोध प्रदर्शन के दौरान घायल हुए। 

एक प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि वुलेरहामा गांव में लोग कथित तौर पर एक चोटी काटने वाले का पीछा कर रहे थे, जो सेना के वाहन से भागने की कोशिश कर रहा था। 

पुलिस के एक अधिकारी ने कहा, "प्रदर्शनकारियों ने सेना के वाहन पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। इसके बाद सेना के जवानों ने भीड़ पर गोलीबारी शुरू की, जिसमें पांच नागरिक घायल हो गए।"

घायल नागरिकों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

तेजस्वी यादव को सुशील मोदी मानते हैं 'बच्चा', जानें मुंह से क्यों निकल रहे हैं कड़वे बोल

Wednesday, 18 October 2017 11:45

पटना: बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव को अभी भी बच्चा मानते हैं. सुशील मोदी से तेजस्वी यादव द्वारा पूछे गए सवालों के बारे में जब प्रतिक्रिया मांगी गई तब उन्होंने कहा कि वे अभी बच्चे हैं और उनकी सक्रियता केवल ट्विटर पर होती है.  सुशील मोदी ने कहा कि तेजस्वी के पास ट्वीट करने के अलावा क्या काम बचा है. सुशील मोदी के अनुसार- जब मौक़ा मिला तो तेजस्वी यादव चूक गए और या तो बिहार के बाहर या विदेश घूमते रहे. लगता है मोदी अभी तक तेजस्वी यादव के जब वो सरकार में थे उस समय के प्रतिक्रिया को नहीं भूले हैं. जब तेजस्वी ने मोदी द्वारा पूछे गए सवालों को यह कहकर टाल जाते थे कि उनके पास कई मंत्रालय के काम हैं और विकास के कामों से इतनी फुर्सत नहीं कि मोदी के आरोपों का जवाब दें.


हालांकि तेजस्वी यादव जबसे विपक्ष के नेता बने हैं, शुरू के एक महीने वे काफ़ी सक्रिय रहे. विधानसभा में विश्वास मत पर उनके भाषण की काफी तारीफ़ हुई थी. उसके बाद पार्टी की रैली के लिए उन्होंने अधिकांश जिलों का दौरा किया. फिर पटना की रैली अब तक की राजद की सबसे संघटित और बिना किसी विवाद के आयोजित की गई. सृजन घोटाले पर सरकार के खिलाफ हालांकि जितना आक्रामक होना चाहिए था, उसका अभाव दिखा. 

तेजस्वी अपने उप मुख्यमंत्री कार्यकाल में जहां अपने बड़े भाई तेजप्रताप यादव से हर मायने में बेहतर साबित हुए, वहीं  फिलहाल कई मामलों में आरोपी बनाए जाने के बाद पूछताछ के लिए एक महीने से अधिक समय से दिल्ली में कैंप कर रहे हैं. उनके पार्टी के समर्थकों को डर है कि कहीं होटल के बदले जमीन वाले मामले में सीबीआई चार्जशीट दायर न कर दे. जिससे पार्टी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. 

वहीं तेजस्वी का बचाव करते हुए राजद के प्रवक्ता मनोज झा कहते हैं कि मोदी का तेजस्वी को बच्चा कहना उनकी ये परेशानी दिखाता है कि उनके पास जवाब नहीं है. झा के अनुसार- तेजस्वी ने हर मौक़े पर साबित किया हैं कि वह अपनी पार्टी और कार्यकर्ताओं की उम्मीद पर खरे उतरे हैं इसलिये हम सुशील मोदी की बातों को ज्यादा अहमियत नहीं देते. मनोज झा का कहना है कि भाजपा के लोगों को परेशानी इस बात को लेकर है कि तेजस्वी यादव सोशल मीडिया पर इतना सक्रिय क्यों हैं.
तेजस्वी जब तक खुद आगे आकर अपनी आलोचना का जवाब नहीं देते उनके विरोधी उन पर हमला करते रहेंगे, लेकिन फ़िलहाल उनका सारा ध्यान अपने खिलाफ लंबित मामलों में जांच एजेंसी का सामना करना और कोर्ट से निर्दोष साबित होना होगा.

POPULAR ON IBN7.IN