35वीं अल्ट्रा-मैराथन रेस स्पार्टाथलन शुरू

हर साल एथेंस से स्पार्टा तक होने वाली अल्ट्रा-मैराथन रेस, स्पार्टाथलन के 35वें संस्करण का आगाज शुक्रवार को हो गया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, 52 देशों के 400 खिलाड़ियों ने सुबह सात बजे ग्रीस के प्राचीन सिपाही फिडेपिडेस के पदचिन्हों पर चलते हुए 246 किलोमीटर लंबी रेस की शुरुआत की।

इस रेस को आयोजित कराने वाली संस्था 'स्पार्टाथलन' के मुताबिक यह मैराथन फिडेपिडेस से प्रेरित है। इतिहासकारों का कहना है कि 409 ईसापूर्व पर्शिया की फौजों के हमले के मुकाबले के लिए सैनिक-संदेशवाहक फिडेपिडेस को एथेंस से स्पार्ट समर्थन हासिल करने के लिए भेजा गया था। फिडेपिडेस ने लगातार दो दिन तक दौड़ते हुए यह बेहद दुरूह, उबड़-खाबड़ रास्ता तय कर संदेश पहुंचाया था। उसी मानवीय शक्ति और मानसिक दृढ़ता की याद में इस मैराथन, स्पार्टाथलन का आयोजन होता है।

हर साल इसमें सैकड़ों लोग भाग लेते हैं लेकिन गंतव्य तक इनमें से केवल एक-तिहाई ही पहुंच पाते हैं।

इस मैराथन में 36 घंटे के समय के भीतर एथेंस से स्पार्टा में राजा लियोनिडास के पुतले तक पहुंचना है। यह मैराथन उबड़-खाबड़, कीचड़ भरे रास्ते से होकर जाती है, रास्ते में ऊंचे पहाड़ और तीखी ढलानें मिलती हैं। यूनान के वरिष्ठ धावक यानिस कुउरोस ने पहली स्पार्टाथलन का खिताब अपने नाम किया था। उनके नाम इस रेस को सबसे कम समय में पूरा करने का रिकार्ड भी है। उन्होंने 20 घंटे 25 मिनट में रेस पूरी करते हुए यह रिकार्ड बनाया था।

35वीं स्पार्टाथलन ग्रीस के पर्यटन मंत्रालय के मार्गदर्शन में आयोजित की जाएगी। इस रेस में कई बड़ी हस्तियां हिस्सा ले रही हैं।

मौजूदा विजेता ग्रीस के निकोस सिडेरिडिस भी इस रेस में अपना खिताब बचाने उतरे हैं।

POPULAR ON IBN7.IN