कांग्रेस 'अध्‍यक्ष' बनने पर राहुल गांधी के सामने होंगी ये पांच चुनौतियां

कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) ने पार्टी अध्यक्ष पद के लिए होने वाले चुनाव कार्यक्रम को मंजूरी दे दी है, जिसके बाद गुजरात विधानसभा चुनावों से पहले राहुल गांधी के  पार्टी अध्यक्ष बनने का रास्ता साफ हो गया है. नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख चार दिसंबर को दोपहर तीन बजे तक है. अगर राहुल गांधी के अलावा कोई नामांकन दाखिल नहीं करता है तो चार तारीख को कांग्रेस के नया अध्‍यक्ष मिल जाएगा. कांग्रेस पार्टी का अध्‍यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी के सामने होंगी ये पांच चुनौतियां...

 

गुजरात चुनाव: अध्‍यक्ष पद की जिम्‍मेदारी मिलने के बाद राहुल गांधी के सामने सबसे बड़ी चुनौती गुजरात चुनाव की होगी. क्‍योंकि यहां पर 1995 से बीजेपी की सरकार है. 

  1. पार्टी को नया रूप देना: राहुल गांधी पर दूसरी सबसे बड़ी चुनाती होगी देश के युवाओं को पार्टी से जोड़ना. इसके लिए पार्टी कई युवा चेहरों को पार्टी में बड़ी जगह देनी होगी या उन्‍हें आगे लाना होगा.
  2. राज्‍य स्‍तर पर बदलाव: पार्टी को मजबूत बनाने के लिए राहुल को राज्‍य स्‍तर पर भी बदलाव करने होंगे ताकि हर राज्‍य में पार्टी के पास एक चेहरा हो जिसके साथ पार्टी चुनावों में उतर सके.  
  3. वरिष्‍ठ नेताओं को साथ लेकर चलना जरूरी: युवाओं को साथ लेने के साथ राहुल को पार्टी के वरिष्‍ठ नेताओं को भी साथ लेकर चलना होगा क्‍योंकि उनको दरकिनार करने से पार्टी को कई जगह विरोध का सामना करना पड़ सकता है.  
  4. मुद्दों पर सरकार को घेरना: पिछले कुछ समय से राहुल ने जीएसटी समेत कई मुद्दों पर सरकार को घेरा है और सोशल मीडिया पर भी राहुल की मौजूदगी बड़ी है. इसे आगे भी जारी रखना होगा ताकि सरकार को उन्‍हीं के तरीके से घेरा जा सके. 

POPULAR ON IBN7.IN