पीएम नरेंद्र मोदी और मनमोहन सिंह की विदेश यात्राओं का ब्योरा देने से पीएमओ का इंकार, मांगी थी खर्च की डीटेल

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की विदेश यात्राओं का सूचना के अधिकार (आरटीआई) कानून के तहत ब्योरा देने से प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने इंकार कर दिया है। आरटीआई कार्यकर्ता नूतन ठाकुर ने पीएमओ से मोदी और सिंह की विदेश यात्राओं पर विभिन्न मदों में किये गये खर्च का ब्योरा मांगा था। लेकिन पीएमओ ने आरटीआई में पूछे गये सवालों को अस्पष्ट बताते हुये जानकारी देने से इंकार कर दिया। ठाकुर ने बताया कि उन्होंने 16 जून को आरटीआई के जरिये पीएमओ से मोदी और सिंह की साल 2010 से अब तक की विदेश यात्राओं से जुड़े विभिन्न इंतजामों पर किये गये खर्च का ब्योरा मांगा था।

पीएमओ में अवर सचिव प्रवीण कुमार ने गुरुवार को भेजे जवाब में इस बाबत कोई जानकारी देने से इंकार कर दिया। कुमार ने ठाकुर द्वारा मांगी गयी जानकारी को अस्पष्ट और व्यापक बताते हुये इसे देने से इंकार कर दिया। हालांकि कुमार ने इस जवाब से संतुष्ट नहीं होने पर पीएमओ में निदेशक सईद इकराम रिजवी के समक्ष अपील करने का विकल्प सुझाया है।

जानकारी देने से इनकार करते हुए कुमार ने ठाकुर को सूचित किया कि आरटीआई अधिनियम, 2005 की धारा 19 के उद्देश्यों को लेकर पीएमओ के निदेशक सैयद एकराम रिजवी अपीलीय प्राधिकार हैं। ठाकुर ने बताया कि अपने सवाल के जवाब के लिए वह निश्चित तौर पर नई दिल्ली में अपीलीय प्राधिकार का दरवाजा खटखटाएंगी।

कांग्रेस ने उठाए थे सवाल:अपने तीन साल के कार्यकाल में प्रधानमंत्री मोदी 60 से ज्यादा विदेशी यात्राएं कर चुके हैं। हाल ही में कांग्रेस ने विदेश यात्राओं को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर करते हुए कहा था कि उनकी ताबड़तोड़ यात्राओं से देश को कोई लाभ नहीं हो रहा है। कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता अजय माकन ने कहा था कि मोदी लगातार विदेश दौरे पर हैं लेकिन उनकी यात्रा से देश को लाभ नहीं मिल रहा है।

POPULAR ON IBN7.IN