लश्कर से रकम लेने के आरोप में गिलानी पर मामला दर्ज

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने लश्कर-ए-तैयबा से जम्मू एवं कश्मीर में 'विनाशक' गतिविधियों के लिए कथित तौर पर रकम प्राप्त करने के मामले में अलगाववादी नेता सैयद अली शाह गिलानी और कुछ अन्य हुर्रियत नेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एनआईए ने शुक्रवार को कहा कि आतंकवाद निरोधक जांच एजेंसी का एक दल श्रीनगर आया है और वह गिलानी, हुर्रियत के प्रांतीय अध्यक्ष नईम खान, जेकेएलएफ नेता फारूक अहमद दार उर्फ बिट्टा कराटे और तहरीक ए हुर्रियत के नेता गाजी जावेद बाबा से पूछताछ करेगा।

जांच एजेंसी ने कहा, "एनआईए ने लश्कर ए-तैयबा प्रमुख हाफिज मुहम्मद सईद और दूसरी पाकिस्तानी आतंकियों और एजेंसियों द्वारा जम्मू एवं कश्मीर में विनाशक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए हुर्रियत नेताओं के वित्तपोषण को लेकर एक प्राथमिक जांच दर्ज की है।"

इसमें आरोप लगाया गया है कि कश्मीर घाटी में सुरक्षा बलों पर पत्थरबाजी कराने, स्कूलों और दूसरे सरकारी प्रतिष्ठानों को जलाने के लिए हुर्रियत को पाकिस्तान से रकम भेजी जा रही है।

एनआईए अधिकारी ने आईएएनएस से कहा, "जल्द ही दल हुर्रियत नेताओं को पूछताछ के लिए बुलाएगा।"

समाचार चैनल इंडिया टुडे द्वारा यह दिखाए जाने के बाद कि पाकिस्तान घाटी में अशांति फैलाने के लिए हुर्रियत नेताओं को रकम भेजी जा रही है, एनआईए ने यह कदम उठाया है।

एनआईए ने कहा कि एक नोटिस इंडिया टुडे चैनल से स्टिंग का वीडियो लेने के लिए भेजी गई है।

इंडिया टुडे चैनल ने 16 मई को एक स्टिंग प्रसारित किया था जिसमें कथित तौर हुर्रियत नेता रिपोर्टर से बात करते देखे जा रहे हैं और यह कबूल कर रहे हैं कि उन्हें पाकिस्तान के संगठनों से हवाला के जरिए पैसा मिला है।