राजनाथ ने मुख्यमंत्रियों से कहा, कश्मीरियों के खिलाफ हिंसा रोकें

उत्तर प्रदेश व राजस्थान में कश्मीरी छात्रों के साथ हुई बदसलूकी पर कड़ा रुख अख्तियार करते हुए केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कहा कि उनके प्रदेशों में रहने वाले कश्मीरियों का उत्पीड़न करने वालों के खिलाफ वे कार्रवाई करें। राजनाथ सिंह ने राजस्थान के मेवाड़ यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करने वाले कश्मीरी छात्रों पर हुए हमले की निंदा की। यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों के एक समूह को स्थानीय लोगों ने कथित रूप से 'आतंकवादी' व 'पत्थरबाज' कहा और उनकी पिटाई की। स्थानीय लोगों ने कश्मीर घाटी में सुरक्षा बलों पर होने वाली पत्थरबाजी से नाराज होकर यह कदम उठाया।

राजस्थान की इस घटना के बाद उत्तर प्रदेश के मेरठ में बड़ी होर्डिग सामने आईं हैं, जिनमें लिखा है, 'पत्थर फेंकने वाले कश्मीरी उत्तर प्रदेश छोड़कर जाएं या नतीजा भुगतने के लिए तैयार रहें।' चेतावनी की यह होर्डिग उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना ने लगाई है। इस संगठन को काफी कम लोग जानते हैं, जिसने उत्तर प्रदेश में रहने वाले कश्मीरियों के खिलाफ 30 अप्रैल से व्यापक अभियान चलाने की धमकी दी है।

समूह ने स्वीकार किया है कि वे बैनर उसी ने लगाए हैं, जिसमें लिखा है, ' भारतीय सेना पर पत्थर मारने वाले कश्मीरियों का बहिष्कार। कश्मीरियों उत्तर प्रदेश छोड़ो, वर्ना..।'

होर्डिग में संगठन के प्रमुख के रूप में अमित जानी का नाम लिखा है, जिसने अपने फेसबुक अकाउंट पर बैनर की एक तस्वीर भी पोस्ट की है।

जानी ने टेलीविजन चैनल सीएनएन न्यूज18 से गुरुवार को कहा कि अभियान का मकसद केवल कश्मीर के 'कट्टरवादी तत्वों' को निशाना बनाना है। उत्तर प्रदेश पुलिस ने जानी के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने घटनाओं को 'दुर्भाग्यपूर्ण' करार देते हुए कहा कि उन्हें पता चला कि कुछ जगहों पर कश्मीरियों के साथ 'बदसलूकी' की गई।

उन्होंने कहा, "मैं सभी मुख्यमंत्रियों से अपील करता हूं कि वे अपने-अपने राज्यों में कश्मीरियों की सुरक्षा सुनिश्चित करें। वे भी भारत के नागरिक हैं और हमारे परिवार का हिस्सा हैं। किसी भी कश्मीरी के साथ बदसलूकी नहीं होनी चाहिए। अगर इस तरह की घटनाएं होती हैं, तो कार्रवाई की जानी चाहिए।"

गृहमंत्री ने संवाददाताओं से कहा, "देश के निर्माण में कश्मीरियों की भूमिका बहुत अधिक है।"

राजनाथ ने कहा कि उन्होंने इस संबंध में गृह मंत्रालय के अधिकारियों को एक एडवाइजरी जारी करने को कहा है।

  • Agency: IANS