हिंसा से निपटने में राज्यों की मदद करेगा केंद्र : राजनाथ

 

कोलकाता:  केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को कहा कि स्वस्थ लोकतंत्र में संघर्ष की कोई जगह नहीं होती है और केंद्र सरकर हिंसा से निपटने में राज्यों को हर तरह का सहयोग प्रदान करेगी, लेकिन पहल राज्यों को करनी चाहिए क्योंकि कानून-व्यवस्था राज्यों का विषय है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, "स्वस्थ लोकतंत्र में संघर्ष की कोई गुंजाइश नहीं होती। देश को आगे ले जाने के लिए हमें हर किसी के सहयोग की जरूरत है।"

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता राजनाथ सिंह ने कहा, "हमें इस वास्तविकता को समझने की जरूरत है कि राजनीतिक संघर्ष या राजनीतिक हिंसा किसी भी तरह से सुशासन व विकास की जगह नहीं ले सकते।"

उन्होंने कहा कि देश के किसी भी हिस्से में टकराव हो रहा है, तो सरकार के लिए इससे बड़ी कोई चुनौती नहीं हो सकती है।

गृह मंत्री ने कहा, "देश के किसी भी हिस्से में अगर टकराव हो रहा है, तो मैं समझता हूं कि सरकार के लिए इससे बड़ी कोई चुनौती नहीं हो सकती।"

उन्होंने कहा कि किसी भी तरह की हिंसा से निपटने के लिए सरकार राज्यों को हर तरह का सहयोग देगी।

मंत्री ने कहा, "लेकिन, राज्य सरकारों को खुद पहल करनी होगी, क्योंकि कानून-व्यवस्था राज्य सरकार का विषय है।"

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आरोप लगाया है कि भाजपा धर्म के आधार पर लोगों को बांटने का प्रयास कर रही है। इस पर राजनाथ ने कहा कि उनकी पार्टी न्याय व मानवता के आधार पर देश चलाना चाहती है।

उन्होंने कहा, "आम तौर पर मैं जाति, संप्रदाय तथा धर्म पर सवालों के जवाब नहीं देता। मेरा मानना है कि भाजपा देश को जाति, संप्रदाय तथा धर्म केआधार पर नहीं चलाना चाहती। हम देश को मानवता तथा न्याय के आधार पर चलाना चाहते हैं।"

  • Agency: IANS