नाबालिग ने सुनाई आपबीती तो पुलिस ने सैक्स रैकेट की सरगना को धर दबोचा

सोशल मीडिया के जरिए सेक्स रैकेट चलाने के आरोप में गुरुवार को गाजियाबाद पुलिस ने 45 वर्षीय महिला समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। एक पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार महिला इस काम को अपने शालीमार गार्डेन के फ्लैट से ऑपरेट किया करती थी। गिरफ्तार की गई महिला का नाम तारा इलियास उर्फ मंजू है। पुलिस ने इसके साथी आरोपियों को अशोक विहार इलाके से गिरफ्तार किया है। आपको बता दें कि एक नाबालिग के साथ गैंगरेप और फिर उसे देह व्यापार में धकेलने के आरोप में पुलिस कई दिनों से इस महिला की तलाश कर रही थी।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी महिला ने उत्तराखंड की रहने वाली 16 साल की नाबालिग को अपने जाल में फंसाया था। तारा 4 मार्च को लड़की को अपने फ्लैट पर लेकर आई थी। पुलिस को दिए गए पीड़िता के बयान के अनुसार तारा ने कई लोगों के पास उसे भेजा जिन्होंने उसके साथ कथित तौर पर रेप किया। पीड़िता ने बताया कि कई लोगों ने उसके साथ कुछ करने से यह कहकर भी मना किया कि वह काफी छोटी है। कई लोगों से रिजेक्ट होने के बाद तारा ने लड़की को दिल्ली के लक्ष्मी नगर में रहने वाली एक औरत को सौंप दिया। इसके कुछ दिन बाद उस महिला ने लड़की को 13 मार्च को आजाद कर दिया। आजाद होने के बाद लड़की पुलिस थाने पहुंची जहां पर उसने आपबीती बताई। आरोपी महिला सेक्स रैकेट की मास्टरमाइंड है जो नाबालिग लड़कियों को अपना शिकार बनाती है। वहीं एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पीड़ित लड़की के परिवार के बारे में पता लगाया जा रहा है और इसके लिए उत्तराखंड पुलिस से संपर्क किया गया है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपी महिला इस धंधे में दिल्ली और गाजियाबाद की महिलाओं का इस्तेमाल किया करती थी। अधिकारी ने बताया कि आरोपी महिला दर्जन भर से ज्यादा सोशल मीडिया के ग्रुप्स पर सक्रिय थी। वह सोशल मीडिया पर अपने धंधे के लिए ऐसे ग्राहक ढूंढती थी जो लड़कियों के लिए अच्छे दाम देने को तैयार रहते थे। अधिकारी ने बताया कि वह सेक्स रैकेट के धंधे में पिछले 8-10 साल से सक्रिय है लेकिन पिछले तीन सालों से वह सोशल मीडिया के जरिए ग्राहक की तलाश किया करती थी।

POPULAR ON IBN7.IN