मुंबई एनजीओ की शिकायत, बाल विवाह को प्रमोट कर रहा है ‘पहरेदार पिया की’

सोनी चैनल का सीरियल ‘पहरेदार पिया की’ इन दिनों खूब खबरों में छाया हुआ है। सीरियल में 10 साल के बच्चे और 18 साल की लड़की की शादी हो जाती है। इसको लेकर अब इस शो को पसंद न करने वालों ने इस पर चाइल्ड मैरेज के प्रचार करने का आरोप लगा दिया है। इसको लेकर मुंबई की एक एनजीओ ने शो को बैन करने की मांग तक कर डाली है। ‘द जय हो फाउंडेशन’ ने कमिश्नर ऑफ पुलिस और यूनियन मिनिस्टर स्मृति ईरानी के पास अपनी शिकायत पहुंचाते हुए शो को जल्द से जल्द बंद कराने की मांग की है। साथ ही यह भी कहा है कि इस तरह के सीरियल से बाल विवाह को बढ़ावा मिल रहा है, जो कि समाज के लिए ठीक नहीं।

एनजीओ प्रेजिडेंट अफरोज मलिक और जनरल सेक्रेटरी आदिल खत्री ने कहा कि सोनी चैनल के इस शो में 10 साल के बच्चे को अपने से दो गुना उम्र की लड़की की मांग में सिंदूर भरते हुए दिखाया गया है। यह शो प्राइम टाइम पर आता है जो कि फैमिली टाइम है। ऐसे शो से लोगों की मानसिकता प्रभावित होने का खतरा है। उनका कहना है कि ऐसे सीरियल पर हम बैन चाहते हैं। इस फाउंडेशन के लोगों ने ये शिकायत पास्को एक्ट 2012 के अंतर्गत की है। ऐसा इसलिए किया गया है ताकि दोबारा इस तरह का सीरियल न बनाया जा सके।

POPULAR ON IBN7.IN