Bigg Boss10: जेल कैदियों से छाता छीनने में घायल हुए ओमजी, 404 रुपए की राशि को लेकर उड़ा स्वामी का मजाक

4 जनवरी को आए कंट्रोवर्सियल रियलिटी शो बिग बॉस में स्वामी ओमजी और बानी कैप्टेंसी के दावेदार होते हैं। इसके बाद स्वामी ओमजी गौरव चोपड़ा के जैसे एक कागज पर लिखकर और खुद के कपड़ों पर चिपकाकर सभी घर वालों से माफी मांगते हैं और दर्शकों से अपने लिए वोट की अपील करते हैं। जेल टास्क से बाहर होने के बाद भी ओमजी फिर से जेल में जाते हैं और धूप से बचने के लिए नितिभा का छाता छीन लेते हैं। बाद में नितिभा और मनु ओमजी से छाता छीनते है, जिसके बाद उनके एक हाथ की उंगली में चोट आती और खून निकलने लगता है। मनु बानी से फस्टेड बॉक्स लाने को बोलते हैं लेकिन वे पट्टी बांधने के लिए भी मना करते हैं। टास्क के दौरान स्वामी ओम का भरपूर ड्रामा देखने को मिला। बिग बॉस से कंफेशन रुम में ओमजी कहते हैं कि नीतिभा और मनवीर की वजह से उन्हें चाफी चोटें आईं हैं साथ ही वे सभी को सजा देने की मांग करते हैं। लेकिन यहां बिग बॉस उल्टा स्वामीजी को फटकार लगाते हैं।

 

बिग बॉस उन्हें कहते हैं कि खींचतान के दौरान जो भी हुआ है वो गलत नहीं हैं और वे टास्क से बाहर हो चुके थे तो उन्हें फिर से टास्क में वापस नहीं जाना था। जेल में ओमजी को चोट लगी थी इसलिए वहां उनका खून रह जाता है, जिसे देखकर मनवीर का दिमाग खराब होने लगता है। बाद में मोना और रोहन, कैदी मनवीर को रिहा करते हैं। लोपा और मनवीर, स्वामी ओम की पर्सनल लाईफ के बारे में बातें करते हैं। वे कहते हैं कि कभी कभी उन्हें उन पर दया भी आती है। दूसरी बार मनु भी टास्क से बाहर हो जाते हैं। अंत में नितिभी भी जेल से रिहा हो जाती हैं।

 

इसके बाद बिग बॉस मोना और रोहन को सभी घर वालों की टास्क के जरिए मिलने वाली राशि के बारे में बताती हैं, जिसमें से सबसे ज्यादा राशि की हकदार लोपा मुद्रा 11 लाख, दूसरे नंबर पर मनवीर 9 लाख, मनु 7 लाख, बानी 6 लाख, नितिभा के लिए 1 लाख जबकि ओमजी सिर्फ 404 रुपए की राशि के हकदार होते हैं। ओमजी और बानी अपने हाथों से ये राशि गाव देते हैं क्योंकि वे दोनों कैप्टन बनने के लिए टास्क को पूरा नहीं करते। ओमजी की कम राशि लगने की वजह से सभी घर वाले उनका बहुत मजाक उड़ाते हैं।

(Photo-Colorstv.com)