इस साल भी रामलीला में अभिनय नहीं करेंगे नवाजुद्दीन सिद्दीकी

बॉलीवुड में अपनी दमदार एक्टिंग से अलग पहचान बनाने वाले एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी मुजफ्फरनगर के रहने वाले हैं। उन्हें पिछले साल शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने रामलीला में मारीच का किरदार निभाने से रोक दिया था। लेकिन रामलीला के आयोजक उनकी वापसी का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। पिछले साल 6 अक्टूबर 2016 को जब कार्यकार्ताओं ने धार्मिक नाटक में एक्टर की परफॉर्मेंस का विरोध किया तो उन्होंने ट्विट कर बताया था कि वो अपने बचपन के सपने को पूरा करना चाहते हैं। नवाज ने लिखा था- मेरे बचपन का सपना पूरा नहीं हो पाया लेकिन मैं निश्चित तौर पर अगले साल रामलीला का हिस्सा बनूंगा। अब रामलीला के आयोजक एक्टर के वापस आने की उम्मीद कर रहे हैं।

हालांकि उनकी इस मामले पर नवाजुद्दीन से कोई बातचीत नहीं हुई है। एक्टर रामलीला में मारीच के किरदार को निभाने वाले थे। लेकिन राइट विंग के कार्यकर्ताओं ने मजबूती से इसका विरोध किया है और उनका दावा है कि किसी मुस्लिम एक्टर ने पिछले 50 सालों से रामलीला के स्टेज पर कदम नहीं रखा है। रामलीला के आयोजक विनीत कल्याण ने टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ हुई बातचीत में कहा- मुझे नहीं लगता कि वो इस साल भी रामलीला का हिस्सा बन सकते हैं। लेकिन हम अभी भी इंतजार कर रहे हैं क्योंकि उन्होंने वापस आने का वादा किया था। एक्टर के फैंस उनका यहां स्टेज पर आने का इंतजार कर रहे हैं।

खुद को नवाजुद्दीन का फैन बताने वाले स्थानीय नागरिक नवाब कुरैशी ने टाइम्स ऑफ इंडिया से कहा- मैं निश्चित रूप से जाकर उनसे मिलूंगा। मैं आशा करता हूं कि राजनीति और कला को मिलाया ना जाता और वो पिछले साल परफॉर्म कर पाते। बुढाना रामलीला में भगवान राम का किरदार निभाने वाले रुचिन शर्मा ने कहा- पिछली बार मुझे इतने महान एक्टर के साथ परफॉर्म करने का मौका नहीं मिला लेकिम मुझे उम्मीद है कि शायद इस बार मुझे यह अवसर मिलेगा।

पिछले साल जब नवाजुद्दीन का विरोध किया गया था तब रामलीला को हिंदू कार्यकर्ताओं के विरोध के बाद रद्द कर दिया गया था। कार्यकर्ताओं को नवाजुद्दीन के इस रामलीला में काम करने को लेकर आपत्ति थी। जब उन्होंने इस संबंध में आयोजकों से बात करके अपसी अंसतुष्टि के बारे में बताया तो इस कार्यक्रम रद्द कर दिया गया था।

 

Media

POPULAR ON IBN7.IN