फिक्सिंग के आरोप पर भड़के तेज गेंदबाज मुनाफ पटेल

विश्व कप-2011 जीतने वाली टीम के सदस्य मुनाफ पटेल पर हाल ही में मैच फिक्सिंग का आरोप लगा। इस पर टाइम्स नाउ को सफाई देते हुए मुनाफ ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है। मुनाफ ने कहा, “आप क्रिकेट को फॉलो करते हो.. आपको पता होना चाहिए कि जो आईपीएल में खेला, जो देश के लिए खेला, वो राजपूताना में फिक्सिंग करेगा?” जब उनसे पूछा गया कि आप उसकी ओपनिंग सेरेमनी में भी थे? इस पर उन्होंने कहा, “इसमें क्या बड़ी बात है… मुझे पैसे मिलेंगे, तो मैं वहां नहीं जाऊंगा… मुझे अभी शाहरुख खान-सलमान खान आईपीएल में आएंगे तो वो पैसा लेकर ही जाते हैं। अगर आईपीएल में कुछ कांड होता है, तो क्या सलमान से पूछोगे?

 

मुनाफ ने कहा- “मेरी जिंदगी क्रिकेट के इर्द-गिर्द है। इसके अलावा मैं कुछ करता भी नहीं हूं… अगर मेरे क्रिकेट पर कोई इल्जाम लगा रहा है.. या तो वो सीआईडी हो, या सरकार हो या कुछ भी हो मैं छोड़ूंगा नहीं… तो मैं तो खेला नहीं हूं.. ना ही मैं बुकी हूं… तो कोई पूफ्र तो होगा कि, जिस हिसाब से मेरा नाम आ रहा है।.. कोई सबूत आपके पास है? आपको मुझे कॉल करने के बजाय सीआईडी या पुलिस पुलिस को पूछना चाहिए कि किस बेस पर आप मुनाफ का नाम ले रहे हो… जो बंदा सिर्फ सेरेमनी में आया था… ना किसी को जानता है।”

हाल ही में इंडियन एक्सप्रेस में इस मामले को लेकर खबर प्रकाशित हुई, जिसके मुताबिक पिछले साल जयपुर में खेले गए एक घरेलू टी 20 टूर्नामेंट में खिलाड़ी ने जिस तरीके का व्यवहार मैदान पर किया था, वो ठीक नहीं था। इसके बाद पिछले साल राजपूताना प्रीमियर लीग के दौरान बीसीसीआई की एंटी करप्शन सिक्सोरिटी यूनिट के तहत राजस्थान पुलिस सीआईडी इस मामले की जांच में जुट गई। मामले में पुलिस ने पिछले साल जुलाई में जयपुर के चार होटलों से 14 लोगों को गिरफ्तार किया। इनमें एक खिलाड़ी भी शामिल था।

दरअसल राजपूताना प्रीमियर लीग के एक मैच के दौरान अंतिम ओवर में हुई गेंदबाजी ने सभी को हैरत में डाल दिया। इसके बाद बीसीसीआई ने इस मामले की जांच को राजस्थान पुलिस के हाथों में सौंप दिया। पुलिस को गिरफ्तार लोगों के पास से कैश, मोबाइल फोन्स, वॉकी टॉकी और लैपटॉप आदि मिले। हालांकि गिरफ्तार लोगों को कुछ दिन बाद ही जमानत पर छोड़ दिया गया था।

POPULAR ON IBN7.IN