इस हादसे के बाद शिवम मावी को लगा कभी नहीं कर पाएंगे गेंदबाजी, आज नोएडा एक्सप्रेस कह पुकारते हैं लोग

 

अंडर-19 वर्ल्ड कप अपने नाम करने वाली भारतीय टीम में कई ऐसे खिलाड़ी हैं जो इस साल आईपीएल में धमाल मचाते नजर आएंगे। शिवम मावी को कोलकाता नाइट राइडर्स ने 3 करोड़ रुपए देकर इस साल टीम में शामिल किया है। शिवम मावी का बेस प्राइज महज 20 लाख रुपए था, लेकिन उन पर कई फ्रेंचाइजियों की नजरें थी। आखिरकार कोलकाता की टीम उन्हें खरीदने में कामयाब रही। अंडर-19 वर्ल्ड कप के दौरान अपनी गेंदबाजी से सुर्खियां बटोरने वाले शिवम मावी की कहानी बेहद दिलचस्प है। नोएडा सेक्टर-71 में रहने वाले मावी को बचपन से ही गेंदबाजी का शौक था, मावी के कोच फूलचंद्र शर्मा ने उन्हें ट्रेनिंग देने का काम किया। 8 साल की उम्र से ही अपने कोच से ट्रेनिंग लेने वाले मावी अपनी गेंदबाजी को लेकर काफी सीरियस थे, वह बेवजह एक दिन की प्रैक्टिस भी मिस नहीं करना चाहते थे। 2016 में हुए एक हादसे के दौरान उनके हाथ में चोट लग गई थी, जिस वजह से वह एक साल तक क्रिकेट नहीं खेल पाए थे। उसी दौरान करंट लगने की वजह से उनका हाथ जल गया था। एक साल तक क्रिकेट से दूर रहने के बाद मावी अपनी वापसी को लेकर काफी घबरा गए थे।

ind vs ausभारत ने चौथी बार अंडर-19 विश्व कप का खिताब अपने नाम किया है।

मावी की मां कविता मावी की मानें तो इस हादसे के बाद ऐसा लगा कि वह अब कभी क्रिकेट नहीं खेल पाएगा, लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी और ठीक होने के बाद अपने खेल पर जमकर मेहनत की। मावी ने अंडर-19 टूर्नामेंट में अपनी रफ्तार से सभी को हैरत में डाल दिया। फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भले ही वो एक ही विकेट लेने में कामयाब रहे हों, लेकिन लीग के शुरुआती मैचों में उनका प्रदर्शन लाजवाब रहा। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए टूर्नामेंट के पहले ही मैच में तीन विकेट हासिल किए थे।

उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हुए 146 किमी की रफ्तार से गेंद फेंकी। जिसके बाद क्रिकेट के दिग्गजों ने उनकी जमकर तारीफ की, अपनी तेज गेंदबाजी की वजह से शिवम मावी को अब लोग ‘नोएडा एक्सप्रेस’ कहकर पुकारने लगे हैं। शिवम के पिता पंकज मावी नोएडा में ही प्राइवेट जॉब करते हैं, मावी के घर इन दिनों जश्न का माहौल है।

 

POPULAR ON IBN7.IN