तो क्या विराट कोहली को शतक का लालच पड़ा भारी? जीतने वाला मैच हुआ ड्रॉ

कोलकाता के ईडन गार्डंस पर श्रीलंका और टीम इंडिया के बीच एक और रोमांचक टेस्ट मैच आखिरकार ड्रॉ हो गया। मैच के आखिरी दिन टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने यूं तो शानदार शतक जड़ा लेकिन उनका यही शतक इस मैच के ड्रॉ होने की बड़ी वजह भी बन गया। हुआ ये कि उन्होंने अपना शतक तो तेज तर्रार तरीके से जड़ा, लेकिन इसके लालच में वह पारी देर से घोषित कर पाए। परिणाम ये हुआ कि टीम के तेज गेंदबाजों को कम ओवर फेंकने को मिले। टीम इंडिया ने दूसरी पारी में 26 ओवर की गेंदबाजी की। अगर टीम इंडिया के तेज गेंदबाजों को 5 से 10 ओवर और गेंदबाजी करने को मिल जाती तो मैच का परिणाम कुछ और हो सकता था। भारतीय तेज गेंदबाजों ने पांचवें दिन श्रीलंका के 7 खिलाड़यों को 75 रन पर चलता कर दिया।

इस मैच में एक फैक्ट सबको पता था कि मैच में हर दिन खेल खराब रोशनी के कारण ही रोका गया। जाहिर है खराब रोशनी का खतरा आखिरी दिन भी था। लेकिन कोहली अपने शतक का लोभ नहीं छोड़ सके। नतीजा ये हुआ कि जो मैच टीम इंडिया के कब्जे में हो सकता था, वह रोमांचक ढंग से ड्रा हो गया। कप्तान कोहली ने पारी को टी टाइम से ठीक पहले घोषित किया। उन्होंने श्रीलंका के सामने जीत के लिए 230 रनों का लक्ष्य रखा। अगर कोहली अपनी पारी टीम के 301 रन के स्कोर पर पारी घोषित कर देते तो भारतीय गेंदबाजों को 5 ओवर और गेंदबाजी करने को मिल जाते। उस समय तक टीम इंडिया श्रीलंका पर 180 रन से ज्यादा की लीड ले चुकी थी। कोहली उस समय 78 रन पर खेल रहे थे।

टीम इंडिया की मैच में लीड जब 200 रन की हो गई, तब भी पारी घोषित नहीं की गई, क्योंकि उस समय तक कोहली 86 रन बना चुके थे। इसके बाद जब उन्होंने शतक लगा लिया, तब तक ये लीड बढ़कर 230 रनों की हो गई। टीम इंडिया के गेंदबाजों को मैच में कम ओवर फेंकने को मिले, नतीजा मैच बेनतीजा ही रहा।

 

POPULAR ON IBN7.IN