महेंद्र सिंह धोनी और राहुल द्रविड़ पर फूटा श्रीसंत का गुस्सा, किए कई बड़े दावे

भारतीय क्रिकेटर एस. श्रीसंत ने पहले अपने इंटरव्यू में बीसीसीआई पर आरोप लगाया था कि स्पॉट फिक्सिंग के मामले में कई अन्य खिलाड़ियों के नाम भी शामिल थे जो कि अभी भी भारतीय टीम का हिस्सा बने हुए हैं। इतना ही नहीं श्रीसंत ने कहा था कि बीसीसीआई ने इन खिलाड़ियों को शह दे रखी हैं। श्रीसंत के मुताबिक मुदगल कमेटी की रिपोर्ट में 13 खिलाड़ियों के नाम थे और बीसीसीआई ने इन नामों को सार्वजनिक ना करने की अपील की थी। बीसीसीआई पर आरोप लगाने के बाद श्रीसंत एक बार फिर मीडिया की सुर्खियों में आ गए हैं। श्रीसंत का आरोप है कि पूर्व खिलाड़ी राहुल द्रविड और महेंद्र सिंह धोनी ने उनके लिए कोई स्टैंड नहीं लिया जब वह बहुत ही बुरे दौर से गुजर रहे थे।

श्रीसंत ने यह खुलासा रिपब्लिक टीवी को दिए अपने एक इंटरव्यू में किया। बता दें कि साल 2013 में स्पॉट फिक्सिंग के मामले में श्रीसंत समेत राजस्थान रॉयल्स टीम के दो अन्य खिलाड़ियों को इस मामले दोषी पाया गया था। रिपोर्ट के अनुसार धोनी जो कि उस समय श्रीसंत के कप्तान थे, जब स्पॉट फिक्सिंग मामले की जांच श्रीसंत पर चल रही थी तब श्रीसंत ने उन्हें एक भावुक मैसेज भेजा था जिसका उन्होंने जवाब नहीं दिया था।

श्रीसंत ने इंटरव्यू में कहा कि राहुल द्रविड राजस्थान रॉयल्स के सपोर्ट में खड़े थे लेकिन उन्होंने मेरी पैरवी नहीं की जबकि वो मुझे बहुत अच्छे से जानते थे। इसके बाद श्रीसंत ने कहा कि मैंने धोनी को एक भावुक संदेश भेजा था लेकिन उन्होंने इसका कोई जवाब नहीं दिया। बता दें, बीसीसीआई ने श्रीसंत पर आजीवन बैन लगा रखा है, जिसके खिलाफ उन्होंने कोर्ट का रुख किया था, हालांकि, उन्हें अभी कोर्ट से भी कोई राहत नहीं मिली है। बैन को हटाए जाने की बात पर श्रीसंत ने कहा कि अगर मुझे फिर से खेलने का मौका मिलता है तो मैं किसी अन्य देश के लिए खेलना चाहूंगा।

 

POPULAR ON IBN7.IN