एमएस धोनी से शुरू हुआ था सिलसिला, विराट की कप्‍तानी में टीम इंडिया ने बना ही डाला ये रिकॉर्ड

भारत ने रविवार को न्यूजीलैंड को तीसरे वनडे मैच में छह रनों से मात देते हुए तीन वनडे मैचों की सीरीज में 2-1 से अपने नाम की। इसी के साथ भारत ने लगातार सात द्विपक्षीय सीरीज जीतने का रिकार्ड अपने नाम कर लिया है। यह भारत की लगातार सबसे ज्यादा सीरीज जीत का रिकार्ड है। इससे पहले भारत ने लगातार छह द्विपक्षीय सीरीज जीती थीं। द्विपक्षीय सीरीज में लगातार जीत की शुरुआत पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के नेतृत्व में साल 2016 में जिम्बाब्वे हुई थी। धौनी की कप्तानी में भारत ने जिम्बाब्वे को 3-0 मात दी थी। इसके बाद भारत ने 2016 में अपने ही घर में किवी टीम को पांच वनडे मैचों की सीरीज में 3-2 से परास्त किया था। इस सीरीज के बाद धौनी ने कप्तानी छोड़ दी थी और कोहली ने कमान संभालते हुए इंग्लैंड के खिलाफ तीन वनडे मैचों की सीरीज में 2-1 से जीत हासिल की थी। इसके बाद भारत ने वेस्टइंडीज को उसके घर में पांच वनडे मैचों की सीरीज में 3-1 से मात दी थी। सीरीज का एक मैच बारिश की भेंट चढ़ गया था। फिर कोहली की कप्तानी में भारत ने श्रीलंका का उसके घर में 5-0 से सूपड़ा साफ किया था।

स्वदेश लौटी भारत ने आस्ट्रेलिया को 4-1 से मात देते हुए लगातार छह सीरीज जीत के रिकार्ड की बराबरी कर ली थी। इस सीरीज में भारत ने किवी को अपने घर में 2-1 से मात देते हुए अपने रिकार्ड को ही तोड़ा है। भारत ने इससे पहले 2007 से 2009 के बीच लगातार छह द्विपक्षीय सीरीज जीती थीं।

भारत ने ग्रीनपार्क स्टेडियम में खेले गए आखिरी वनडे के रोमांचक मुकाबले में न्यूजीलैंड को छह रनों से मात देते हुए तीन मैचों की सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमा लिया। भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए रोहित शर्मा (147) और विराट कोहली (113) के बीच हुई दोहरी शतकीय साझेदारी के दम पर निर्धारित 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 337 रन बनाए थे। जवाब में किवी टीम पूरे ओवर खेलने के बाद सात विकेट पर 331 रन ही बना सकी। 

POPULAR ON IBN7.IN