आस्ट्रेलिया टीम पर पत्थर फेंकने की घटना की होगी जांच : असम सरकार

असम सरकार ने मंगलवार रात बरसापारा स्टेडियम से मैच खेलकर वापस लौट रही आस्ट्रेलिया टीम की बस पर पत्थर फेंकने की घटना की जांच का आदेश दिया है। इसी क्रम में पुलिस ने घटना में संलिप्तता के संदेह में दो लोगों को गिरफ्तार किया है।

उल्लेखनीय है कि मंगलवार को खेले गए दूसरे टी-20 मैच में आस्ट्रेलिया टीम ने भारत को आठ विकेट से मात दी।

फेसबुक और ट्विटर जैसी सोशल मीडिया साइटों पर लोग इस घटना को लेकर बयानबाजी कर रहे हैं और आलोचनाएं भी कर रहे हैं। कुछ लोगों का कहना है कि इस घटना के लिए असम के लोगों को दोषी नहीं ठहराना चाहिए।

इस घटना के बाद आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के खिलाड़ी एरॉन फिंच ने ट्वीट किया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, "होटल जा रही टीम की बस की खिड़की पर पत्थर फेंका गया। थोड़ा डरावना था।"

इस पोस्ट के साथ फिंच ने टीम की बस की टूटी खिड़की का एक फोटो भी साझा किया।

असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने एक ट्वीट में लिखा, "इस घटना में शामिल आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। जांच चल रही है और पुलिस ने दो संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है।"

अपने ट्वीट में बुधवार को मुख्यमंत्री ने लिखा, "एक शानदार मैच के बाद ऐसी घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। एक खेल क्षेत्र के रूप में विकसित हो रहे गुवाहाटी के लिए यह घटना छवि खराब कर देने वाली है। हम कड़े तौर पर इसकी आलोचना करते हैं। असम के लोगों के लिए यह घटना स्वीकार्य नहीं है।"

असम के खेल मंत्री नाबा दोले ने होटल रेडिसन ब्लू में बुधवार को संवादाताओं से कहा कि सरकार ने इस घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं और दोषियों को सजा दी जाएगी।

असम के मुख्यमंत्री सोनोवाल ने पुलिस और नागरिक प्रशासन को तुरंत प्रभाव के साथ इस मामले की जांच और दोषियों को सजा देने के आदेश दिए हैं।

डीजीपी मुकेश सहाय ने कहा, "पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है और मामले की जांच जारी है। दोनों टीमों के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। हालांकि, हमारे भरसक प्रयास के बावजूद इस प्रकार की दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई।"

गुवाहाटी के पुलिस आयुक्त हिरेन नाथ ने कहा कि यह हमला किसी एक टीम के खिलाफ जानबूझ कर नहीं किया गया।

उन्होंने कहा, "स्टेडियम से करीब 2.5 किलोमीटर की दूरी पर टीम की बस पर पत्थर फेंका गया। दोनों टीमें एक ही रंग की बसों में सफर कर रही थी। हमने दोनों टीमों के लिए एक प्रकार के सुरक्षा के इंतजाम किए थे। पुलिस सुरक्षा में आई कमी की जांच कर रही है।"

नाथ ने कहा कि स्टेडियम में इस प्रकार की कोई घटना नहीं घटी और मैच अच्छा हुआ। यह योजनाबद्ध हमला नहीं था। अगर यह योजनाबद्ध घटना होती, तो बस पर और भी पत्थर फेंके गए होते। हालांकि, पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

POPULAR ON IBN7.IN