बीसीसीआई के सेक्रेटरी और कोषाध्यक्ष का खर्चा सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे

सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त बीसीसीआई की प्रशासक समिति (COA) ने बुधवार को बोर्ड के वरिष्ठ अधिकारियों का पूरा खर्चा सार्वजनिक कर दिया है। अपनी पांचवी रिपोर्ट में सीओए ने कहा कि बोर्ड ने कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी पर 1.56 करोड़ और कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध चौधरी पर 1.76 करोड़ रुपये खर्च किए हैं। दिलचस्प बात है कि पूर्व सचिव अजय शिर्के, जिन्हें सुप्रीम कोर्ट ने पद से हटाया था, ने अन्य अधिकारियों के उलट बीसीसीआई से एक पैसा नहीं लिया। खर्च की अवधि वित्त वर्ष 2015-16, 2016-17 और मौजूदा वित्त वर्ष (अप्रैल से जून 2017) की है। यह रिपोर्ट सामने आते ही अमिताभ और अनिरुद्ध पर सबकी नजरें टिक गई हैं।

सीओए ने न्यायालय के आदेशों का जानबूझकर पालन नहीं करने को लेकर बुधवार को बोर्ड के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना, अमिताभ चौधरी और अनिरुद्ध चौधरी को हटाने की मांग की है। सीओए ने 26 जुलाई को आयोजित विशेष आम बैठक में हिस्सा लेने को लेकर बोर्ड के सीईओ राहुल जौहरी और कानूनी टीम को भी लताड़ लगाई है। विनोद राय की अध्यक्षता वाली सीओए ने इस बात को भी स्पष्ट किया कि राज्य क्रिकेट संघ लोढ़ा समिति की सिफारिशों को लागू नहीं करना चाहते और इसमें बोर्ड के मौजूदा शीर्ष अधिकारियों की भी भूमिका संदिग्ध हैं, क्योंकि उन्होंने इसे लागू करने को लेकर अपनी ओर से कोई प्रयास नहीं किया है। साथ ही साथ सीओए ने ‘कॉफ्लिक्ट ऑफ इंटरेस्ट’ और ऑम्बड्समैन की नियुक्ति जैसे मूल मुद्दों का ध्यान नहीं रखने को लेकर भी बोर्ड अधिकारियों की खिंचाई की है।

रिपोर्ट में सीओए ने बोर्ड के आला अधिकारियों के हवाई यात्रा, टीए/डीए, रहने खाने और विदेशी मुद्रा भत्ते का विस्तृत विवरण दिया है। इसके मुताबिक पूर्व आईपीएस अफसर और मौजूदा कार्यकारी सेक्रेटरी अमिताभ के हवाई यात्रा पर 65 लाख रुपये (असली रकम 65,04,124 रु.) खर्च हुए हैं। जबकि टीए और डीए के लिए उन्हें बोर्ड से 42.25 लाख और विदेशी मुद्रा भत्ते के तौर पर 29 लाख रुपये मिले हैं। उनके होटल में रहने का खर्च 13.51 लाख, जबकि कार्यालय का खर्चा 3.93 लाख है। उन्हें अतिरिक्त 1.31 लाख रुपये भी दिए जाते हैं। इस तरह दोनों वित्त वर्ष और मौजूद वित्त वर्ष (जून तक) का मिलाकर खर्चा 1,56,01,993 रुपये बैठता है।

दूसरी ओर कोषाध्यक्ष अनिरुद्ध को पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष एन.श्रीनिवासन का खास माना जाता है। वह खर्च के मामले में सेक्रेटरी से भी आगे हैं। अनिरुद्ध के हवाई यात्रा पर बोर्ड ने 60 लाख रुपये खर्चा किया। वहीं उन्हें टीए और डीए के तौर पर 75 लाख रुपये मिले। विदेशी मुद्रा भत्ते के लिए उन्हें 17.64 लाख, जबकि रहने के लिए 11 लाख रुपये दिए गए। इतना ही नहीं अन्य भत्तों के लिए उन्हें 3.41 लाख और सिर्फ टेलीफोन बिल के लिए 2.37 लाख रुपये मिले। कुल मिलाकर उनका खर्च 1,71,58,330 रुपये का रहा। अगर बात पूर्व अध्यक्ष अनुराग ठाकुर और  सीके खन्ना की करें तो उन्होंने इसी अवधि में कम खर्चा किया है। ठाकुर का कुल खर्च 24 लाख था, जबकि इसी अवधि में खुराना ने 6.52 लाख रुपये खर्च किए।

POPULAR ON IBN7.IN