रवि शास्‍त्री ने टीम इंडिया की ट्रेनिंग को को दिया नया रंग

भारतीय कोच रवि शास्त्री ने टीम के साथ दूसरे कार्यकाल में खिलाड़ियों की तैयारी के स्टाइल में थोड़ा बदलाव किया है, हालांकि अभी यह शुरू ही हुआ है लेकिन इसका तुरंत प्रभाव देखा जा सकता है। शास्त्री ने जो कुछ अहम चीजें लागू की हैं, उसमें यह बात महत्वपूर्ण है कि कैसे बल्लेबाज अब मध्यक्रम में बल्लेबाजी के लिये तुरंत तैयार रहते हैं। बल्लेबाजी क्रम से इसका कुछ लेना देना नहीं है, बल्कि मध्यक्रम में बल्लेबाजी के लिये उतरने से पहले ‘वार्मिंग अप’ में नयापन लाया गया है। गाले में ही यह साफ हो गया जब शिखर धवन और अभिनव मुकुंद की भारतीय जोड़ी पहले टेस्ट में टीम के अन्य सदस्यों से पहले मैदान पर पहुंची। इसका मकसद यही था कि नेट पर पहुंचो और गेंद हिट करना शुरू करो क्योंकि भारत पहले बल्लेबाजी भी कर सकता है। इस मैच में कोहली ने टास जीता और अच्छा वार्म अप करने वाले धवन ने पहली पारी में 168 गेंद में 190 रन बनाये। जब तक सलामी बल्लेबाज पवेलियन पहुंचे, चेतेश्वर पुजारा ने यह बदला हुआ अपना रूटिन पूरा कर लिया जबकि विराट कोहली नेट पर थे। यह निश्चित रूप से पिछली बार से अलग तरह का प्रयोग था और टीम का इसमें स्वागत किया गया। कोच शास्त्री ने यह नयी प्रक्रिया इसलिये शुरू की कि टीम को मैदान पर भी अपना नंबर एक का दर्जा दिखाना चाहिए।

भारत के खिलाफ कोलंबो में तीन अगस्त से शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट मैच के लिए श्रीलंका क्रिकेट टीम की कमान दिनेश चांडीमल को सौंपी जा सकती है। निमोनिया होने के कारण गॉल में खेले गए पहले टेस्ट मैच से बाहर रहे चांडीमल दूसरे टेस्ट मैच में वापसी कर सकते हैं। गॉल अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए पहले टेस्ट मैच में श्रीलंका की कमान संभाल रहे रंगना हेराथ की उंगली में चोट लग गई थी। ऐसे में उनके दूसरे टेस्ट मैच में खेलने की संभावनाएं बेहद कम नजर आ रही हैं। उनका पूरा ध्यान रखा जा रहा है।

श्रीलंका की क्रिकेट टीम के प्रबंधक और चयनकर्ता आसंका गुरुसिन्हा ने कहा, “दिनेश को फिट होना चाहिए। उन्होंने रविवार को अभ्यास किया था और पिछले कुछ दिनों में उन्होंने बल्लेबाजी भी की।” हेराथ के बारे में गुरुसिन्हा ने कहा, “हमें अगले कुछ दिनों में देखना होगा कि वह किस प्रकार खेल पा रहे हैं, क्योंकि उनकी उंगली की चोट ठीक नहीं हुई है। हम उन्हें अगले मैच की शुरुआत के आखिरी मिनट तक का समय देंगे, ताकि वह फैसला ले सकें कि वह मैदान पर उतरने के लिए तैयार हैं कि नहीं?”

POPULAR ON IBN7.IN