राहुल द्रविड़ और ज़हीर ख़ान को लेकर बोले COA प्रमुख विनोद राय - अभी नहीं लगी इनके नामों पर मुहर

भारतीय क्रिकेट में चल रहा विवाद ख़त्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. दिल्ली के एयरोसिटी के होटल पुलमैन में हुई सीओए (कमेटी ऑफ़ एडमिनिस्ट्रेटर्स) यानी प्रशासक समिति की बैठक के बाद टीम इंडिया के कोच और सपोर्टिंग स्टॉफ को लेकर तस्वीरें और साफ़ हो गईं. दरअसल टीम इंडिया के कोच और सपोर्ट स्टॉफ का मसला अब भी पूरी तरह सुलझ हीं पाया है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासक समिति के अध्यक्ष विनोद राय ने साफ़ कर दिया कि फ़िलहाल राहुल द्रविड़ और ज़हीर ख़ान के नामों की सिर्फ़ सिफ़ारिश भर हुई है. उन्होंने ये भी कहा कि मुंबई में रवि शास्त्री से बैठक के बाद ही इस बारे में कोई फ़ैसला लिया जा सकेगा. विनोद राय ने बताया कि द्रविड़ या ज़हीर की उपलब्धता के अलावा ये भी देखना होगा कि हितों के टिकराव का मुद्दा इनकी नियुक्ति के आड़े तो नहीं आता.

बीसीसीआई की बनाई चार सदस्यीय समिति कोच और सपोर्टिंग स्टॉफ का बातचीत के बाद वेतन भी तय करेगी. इस समिति में बीसीसीआई के अध्यक्ष सीके खन्ना, अमिताभ चौधरी, डायना एडल्जी के अलावा सीईओ राहुल जौहरी भी शामिल हैं. इस कमेटी की बैठक 19 जुलाई को होनी है.

इस बीच ख़बर ये भी है कि बीसीसीआई ने टीम इंडिया के मैनेजर के पद के लिए आवेदन मंगाए हैं और इसकी आख़िरी तारीख़ 21 जुलाई रखी गई है. ये नियुक्ति सालभर के लिए होगी. फ़र्स्ट क्लास क्रिकेट या अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खेले गए खिलाड़ी को प्राथमिकता दिये जाने की बात भी कही गई है.
  
विवाद की पिच पर भारतीय क्रिकेट
भारतीय क्रिकेट में जारी विवाद थमने का नाम नहीं ले रह है. भारतीय क्रिकेट बोर्ड की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) ने प्रशासकों की समिति (सीओए) प्रमुख विनोद राय को पत्र लिखकर ‘दुख’ जताया है कि ऐसा दिखाया कि उन्होंने (समिति ने) राहुल द्रविड़ और जहीर खान की नियुक्तियां मुख्य कोच रवि शास्त्री पर थोपी थीं. प्रशासकों की समिति (सीओए) ने ऐसा बर्ताव किया था कि सीएसी को केवल मुख्य कोच नियुक्त करना था जबकि उन्होंने सीमा से बाहर जाकर द्रविड़ और जहीर की सलाहकार के तौर पर नियुक्ति भी कर दी.    रवि शास्त्री और सौरव गांगुली के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा. कुछ दिन पहले मीडिया में यह खबर आई थी कि सौरव गांगुली रवि शास्त्री को कोच बनाने के पक्ष में नहीं थे लेकिन जब गांगुली के सामने जहीर खान को बॉलिंग कोच बनाए जाने का ऑफर रखा गया तब वे शास्त्री को कोच बनाने के लिए राजी हो गए. शास्त्री के नाम के साथ-साथ जहीर खान को गेंदबाजी कोच और राहुल द्रविड़ को ओवरसीज सीरीज के लिए बैटिंग कोच बनाया गया. 

POPULAR ON IBN7.IN