पेट भरते ही इंसान अपनी औकात भूल जाता है: वीरेंद्र सहवाग

Champions Trophy 2017 चल रही है। इसी बीच क्रिकेट से कुछ हटकर क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने एक ट्वीट किया है। वीरेंद्र सहवाग ने ट्वीट किया है कि कचरे में पड़ी रोटियां यही बयां करती हैं कि पेट भरते ही इंसान अपनी औकात भूल जाता है। सहवाग के इस ट्वीट के बाद लोगों ने इसपर रीट्वीट करना शुरू कर दिया। इसके बाद एक श्याम सैनी नाम के यूजर ने सहवाग से पूछा कि एक दिन के लिए अगर आपको कोई पीएम बना दे तो आप क्या करोगे? इसके बाद एक विराट कोहली नाम के यूजर ने लिखा कि सही बोले वीरू पाजी। एक राज कारिया नाम के यूजर ने लिखा कि सही है सरजी पर सबसे ज्यादा कचरे में खाना तो तभी जाता है जब सेलिब्रिटीज और नेताओं की पार्टी होती हैं।

जाधौपुर ने लिखा इंसान को जो प्रभु ने सांस गिनकर दिए है उसको भी नहीं भूलना चाहिये ,और भक्ती करनी चाहिए। प्रभाष ने कहा कि एकदम सत्य वचन पाजी। चैंप ने लिखा पाजी तुस्सी ग्रेट हो। एक यूजर ने जवाब मे लिखा कि क्या खूब कहा है किसी ने गंदगी देखने वालो कि नजर में होती है। वरना कचरा बीनने वालों को तो उसमे भी रोटियां नजर आती है।

सन्नी राव ने लिखा कि अक्सर उन्हीं रोटियों को गरीब उठाकर खा लिया करते हैं और यह देखकर बहुत दुख होता है। राकेश जयसवाल ने लिखा कि सही पकड़े हैं सरजी, लव यू। वहीं एक धीरज नाम के यूजर ने लिखा कि इसीलिए पाकिस्तान और बांग्लादेश ने दो मैच क्या जीत लिए अपनी औकात में रहना ही भूल गए। जितेंद्र ने तो एक अभियान तक चलाने की सलाह दे डाली। उन्होंने लिखा कि बहुत खूब सर और इसके लिये भी आप स्वच्छता अभियान की तरह अभियान चला सकते हैं।

 

 

 

 

एक यूजर ने पाकिस्तान का मजाक बनाते हुए लिखा कि मैं आपसे पूरी तरह सहमत हूं मैं बची हुई रोटियों को पाकिस्तान को दान में दे दूंगा। आदित्य शर्मा ने लिखा कि ये इंसानी फितरत है जब होता है तो कद्र नहीं होती। जब नहीं होता तो पाने की अभिलाषा जरूरत से ज्यादा बढ़ जाती है। एक यूजर ने लिखा पाजी आज तो बांग्लादेश को कचरे में फेंकना है और फाइनल की टिकट (रोटी) लेनी है।

POPULAR ON IBN7.IN