मैच खत्म न कर पाना अपराध है : पठान

कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में सबसे ज्यादा मैच खेलने वाले हरफनमौला खिलाड़ी यूसुफ पठान ने गुरुवार को कहा कि उनके लिए मैच खत्म न कर पाना अपराध है। पठान ने कहा कि वह इस पर अगले मैच में ध्यान देंगे।

पठान ने दिल्ली के खिलाफ 39 गेंदों में 59 रनों की मैच जिताऊ पारी खेली थी। हालांकि पठान अंत तक विकेट पर टिक नहीं पाए थे और मनीष पांडे ने आखिरी ओवर में टीम को जीत दिलाई थी।

कोलकाता को गुरुवार को गुजरात लायंस के खिलाफ मैच खेलना है। मैच से पहले सवांददाता सम्मेलन में पठान ने कहा, "मुझे वो मैच खत्म करना चाहिए था।"

उन्होंने कहा, "एक जमे हुए बल्लेबाज के आउट होने के बाद आने वाले बल्लेबाज के लिए उसी तरह का खेल खेल पाना मुश्किल होता है। कई बार जब एक जमा हुआ बल्लेबाज आउट होता है तो नए बल्लेबाज को परेशानी होती है। पिछले मैच में मैं अच्छी बल्लेबाजी करने के बाद आउट हो गया, जो अपराध था। मैं इस गलती को नहीं दोहराऊंगा।"

पठान ने कहा कि वह अपनी बल्लेबाजी शैली को बिना बदले लंबे समय तक खेलने का प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने कहा, "मेरा खेल बदला नहीं है। मुझे पहले से ज्यादा ओवर खेलने को मिले हैं। इसलिए मैं इस बात को ध्यान में रखता हूं। मेरे शॉट बदले नहीं हैं लेकिन साथ ही मेरी कोशिश बड़ी पारी खेलने की है। मैं इसका लुत्फ उठा रहा हूं।"

कोलकाता ने पहले मैच में गुजरात लायंस को 10 विकेट से हराया था। उनसे जब पूछा गया कि क्या इस बार भी गुजरात को हराना आसान होगा।

उन्होंने कहा, "किसी भी खेल में, किसी भी टूर्नामेंट में कोई भी टीम कमजोर नहीं होती है। हर टीम जीतना चाहती है। हर टूर्नामेंट में दो-तीन टीम होती हैं जो काफी प्रयास के बाद भी अच्छा नहीं कर पातीं, लेकिन यह उन्हें कमजोर नहीं बनाता।"