सौरव गांगुली पर टिकट घोटाले का आरोप

क्रिकेट असोसिएशन अॉफ बंगाल (सीएबी) के पूर्व कोषाध्यक्ष बिस्वरूप डे ने सोमवार को कथित तौर पर असोसिएशन के चेयरमैन सौरव गांगुली पर भारत और इंग्लैंड के बीच हुए पहले वनडे मैच की कॉम्पिलमेंट्री टिकट को बांटने में पार्दर्शिता न बरतने का आरोप लगाया है। यह मैच ईडन गार्डन्स पर 22 जनवरी को खेला गया था। सीएबी में 9 साल बिताने के बाद डे को पद छोड़ना पड़ा था। उन्होंने आरोप लगाया कि पूर्व कप्तान गांगुली, ट्रस्टी बोर्ड के चेयरमैन गौतम दासगुप्ता और उनकी टीम ने अनैतिक तरीके से उन्हें उनके कोटे की कॉम्प्लिमेंट्री टिकट्स देने से इनकार कर दिया। वहीं गांगुली ने इन आरोपों को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि डे हमेशा मुझसे 200-300 टिकट्स ले जाते हैं, तो उनके आरोपों का कोई आधार नहीं है। मैं इस पर आगे कोई जवाब नहीं देना चाहता।

आपको बता दें कि डे एक क्लब के प्रतिनिधि हैं और वह सीएबी के संयुक्त सचिव भी रहे हैं। नियम के मुताबिक संयुक्त सचिव को आजीवन कॉम्प्लिमेंट्री टिकट मिलता है। डे ने कहा कि ईडन में करीब 12 हजार 992 कॉम्प्लिमेंट्री टिकट होते हैं, लेकिन उन्हें एक टिकट के भी काबिल नहीं समझा गया। टिकट बंटन में कोई पारदर्शिता नहीं बरती गई, जबकि लोढ़ा कमेटी की सिफारिशों के मुताबिक टिकट बंटवारे में भी पारदर्शिता होनी चाहिए। डे ने कहा कि अगर एक हफ्ते में उन्हें कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला, तो वह बीसीसीआई का दरवाजा खटखटाएंगे। उन्होंने कहा कि जब उन्हें (विश्वरूप डे को) सीएबी से हटाने की बात होती है तो कमेटी की सिफारिशों को माना जाता है, लेकिन टिकट पारदर्शिता के मुद्दे पर सिफारिशों को दरकिनार कर दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि लोढ़ा पैनल की उम्र संबंधी सिफारिशें शायद पूर्व बीसीसीआई जॉइंट सेक्रेटरी दासगुप्ता पर लागू नहीं हुई हैं, जो बोर्ड अॉफ ट्रस्टीज के चेयरमैन हैं। वह 70 साल के हैं और अभी उनका 9 साल का कार्यकाल और बचा है। वह कैसे काम कर रहे हैं।

इधर गौतम दासगुप्ता ने माना कि विश्वरूप डे को टिकट नहीं दिए गए। उन्होंने कहा कि विश्वरूप दे को आठ कॉम्प्लिमेंट्री टिकट मिलने की बात थी, लेकिन इस संबंध में सीएबी अध्यक्ष से इजाजत नहीं मिलने पर उन्हें टिकट नहीं दिया गया। इसके अलावा विश्वरूप डे का पद भी स्पष्ट नहीं है। यह तो पता चले कि उन्हें किस आधार पर टिकट दिया जाए। न केवल विश्वरूप दे बल्कि सह सचिव सामंत डे और एक उपाध्यक्ष को भी टिकट नहीं मिल सका था।

POPULAR ON IBN7.IN