900 मेगाहर्ट्ज के लिए मूल्य काफी ऊंचा : सीओएआई

नई दिल्ली : सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (सीओएआई) ने गुरुवार को कहा कि स्पेक्ट्रम की अगली नीलामी में 900 मेगाहर्ट्ज बैंड के लिए प्रस्तावित आधार मूल्य काफी ज्यादा है। सीओएआई ने संचार और सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) मंत्री रवि शंकर प्रसाद को गुरुवार को लिखे एक पत्र में कहा, "900 मेगाहर्ट्ज बैंड की प्रस्तावित नीलामी के लिए आधार मूल्य भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) की सिफारिश के मुकाबले 32.5 फीसदी बढ़ा दी गई है।" पत्र की एक प्रति आईएएनएस को भी मिली है।

इसी पत्र की एक प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी भेजी गई है।

सीओएआई के महानिदेशक राजन एस मैथ्यूज ने कहा, "हम यह कहना चाहेंगे कि ट्राई की सिफारिश में प्रस्तावित मूल्य पहले ही काफी अधिक था और इसे 32.5 फीसदी और बढ़ाया जाना अनुचित है।"

मैथ्यूज ने पत्र में कहा, "इस वृद्धि का आने वाले वर्षो में गुणवत्तापूर्ण नेटवर्क के विकास और विस्तार पर व्यापाक असर पड़ेगा।"

मंत्रिमंडल ने सोमवार को 800, 900 और 1800 मेगाहर्ट्ज बैंडों में नीलामी के रास्ते पर आगे बढ़ने के लिए दूरसंचार विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी और इन सबके लिए आधार मूल्य भी तय कर दिया।

एक आधिकारिक बयान में कहा गया, "देशभर के लिए मंजूर आधार मूल्य हैं 800 मेगाहर्ट्ज बैंड में 3,646 करोड़ रुपये प्रति मेगाहर्ट्ज तथा दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और जम्मू एवं कश्मीर को छोड़कर अखिल भारतीय 900 मेगाहर्ट्ज बैंड के लिए 3,980 रुपये और 1800 मेगाहर्ट्ज बैंड (महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल को छोड़कर) 2,191 रुपये।"

सीओएआई ने विभाग से अनुरोध किया है कि 900 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम के मूल्य की समीक्षा की जाए और 3जी स्पेक्ट्रम में 15-20 मेगाहर्ट्ज उपलब्ध कराए जाएं, ताकि उसकी भी साथ में ही नीलामी हो सके।

POPULAR ON IBN7.IN