भारत को मिस्र से अधिक कारोबार की आशा

काहिरा, 12 मार्च (आईएएनएस)| मिस्र के राष्ट्रपति मोहम्मद मोर्सी के भारत दौरे को लेकर चल रही तैयारियों के बीच दोनों देशों की व्यापारिक समिति की एक बैठक में यहां भारतीय दल ने आशा जताई कि भारत को औषधि, टीके, सूचना और संचार प्रौद्योगिकी जैसे अनेक क्षेत्रों में प्रतियोगी कीमत पर बेहतरीन उत्पाद के स्रोत के रूप में देखा जाएगा। भारत-मिस्र संयुक्त व्यापार समिति ने रविवार को काहिरा में अपनी पहली बैठक की।

यहां जारी एक बयान के मुताबिक इस माह मोर्सी की भारत यात्रा से पहले दोनों पक्षों ने आपसी व्यापार की स्थिति, सुलझाने लायक मुद्दे और सहयोग की भावी सम्भावनाओं की पड़ताल की।

भारतीय पक्ष का नेतृत्व वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव डी.एस. धेसी ने किया।

दोनों पक्षों ने संतोष जताया कि वैश्विक आर्थिक सुस्ती के बाद भी दोनों देशों का आपसी व्यापार बढ़ रहा है।

आपसी व्यापार 2006-07 में जहां 2.5 अरब डॉलर था, वह 2011-12 में बढ़कर 4.3 अरब डॉलर हो गया है। आपसी व्यापार हालांकि मिस्र के पक्ष में झुका हुआ है।

दोनों पक्षों ने मिस्र में भारत के बढ़ते निवेश पर खुशी जताई और मिस्र में भारतीय कम्पनियों को होने वाली परेशानियों को जल्द से जल्द दूर करने पर सहमति जताई।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN