फरवरी में निर्यात में 4.25 प्रतिशत बढ़ोतरी

नई दिल्ली, 11 मार्च (आईएएनएस)| फरवरी में भारत का निर्यात 4.25 प्रतिशत बढ़ने के साथ 26.26 अरब डॉलर हो गया। सोमवार को पेश किए गए सरकारी आंकड़ों के अनुसार यूरोप से आने वाली मांग के पटरी पर आने के बाद निर्यात में लगातार दूसरे महीने सकारात्मक वृद्धि देखी गई। मौजूदा वित्त वर्ष के पहले 11 महीनों में निर्यात साल-दर-साल केवल तीसरी बार बढ़ा। निर्यात पिछले आठ महीनों में लगातार गिरावट के बाद जनवरी में मामूली 0.82 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 25.58 अरब डॉलर रहा।

वाणिज्य सचिव एस.आर. राव ने यहां पत्रकारों को बताया कि वित्त वर्ष 2012-13 के अप्रैल-फरवरी में निर्यात 4 प्रतिशत गिरावट के साथ 265.95 अरब डॉलर रहा।

फरवरी में भारत का आयात 2.6 प्रतिशत वृद्धि के साथ 41.18 अरब डॉलर रहा। इस तरह माहवार व्यापार घाटा 14.9 अरब डॉलर रहा।

राव ने कहा कि निर्यात में बढ़ोतरी और आयात में निम्न वृद्धि से व्यापार अंतर को कम करने में मदद मिली है।

वाणिज्य सचिव ने कहा, "यह अच्छी खबर है कि व्यापार घाटा नीचे आ रहा है।"

व्यापार घाटा जनवरी में बढ़कर 20 अरब डॉलर हो गया था। किसी महीने में यह दूसरा सबसे बड़ा व्यापार अंतर था। पिछले साल अक्टूबर में सबसे ज्यादा व्यापार घाटा देखने को मिला था और यह 20.9 अरब डॉलर पहुंच गया था।

राव ने कहा कि यूरोप में भारतीय वस्तुओं की मांग बढ़ी है। विश्व के अन्य भागों की स्थिति में भी धीरे-धीरे सुधार हो रहा है।

उन्होंने कहा, " ज्यादा भारिता वाले सेक्टर जैसे इंजीनीयरिंग और तेल शोधन ने बेहतर काम करना शुरू कर दिया है। वस्त्रों के निर्यात में भी मामूली सुधार हुआ है।"

अपेरल एक्सपोर्ट प्रोमोशन काउंसिल(एईपीसी) के चेयरमैन ए. शक्तिवेल ने कहा, "पिछले दो महीने के निर्यात के सकारात्मक आंकड़ों से पता चलता है कि अर्थव्यवस्था में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। इस गति को बरकरार रखने के लिए जरूरी है कि सरकार कम दरों पर उद्योगों को साख मुहैया कराए। "

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

POPULAR ON IBN7.IN