टेस्ला ने सैकड़ों कर्मियों को निकाला

इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला ने सप्ताह भर पहले कार्यो की समीक्षा के बाद करीब 100 से ज्यादा कर्मचारियों को निकाल दिया, जिनमें इंजीनियर, प्रबंधक और फैक्टरी के कर्मचारी शामिल हैं। मर्करी न्यूज के मुताबिक, टेसला ने कहा कि यह नियमित आयोजित सालाना प्र्दशन की समीक्षा है, जिसके परिणामस्वरूप पदोन्नति व बोनस के साथ-साथ निकाला जाना स्वाभिक है। 

अमेरिकी फर्म के हवाले से कहा गया है, "किसी भी कंपनी में, विशेष रूप से जहां 33,000 से अधिक कर्मचारी हों, प्रदर्शन की समीक्षाएं कभी-कभी कर्मचारी के निकाले जाने के परिणामस्वरूप भी होती हैं। टेस्ला लगातार आगे बढ़ रही है और दुनिया भर में नए कर्मचारियों को रख रही है।"

हालांकि टेस्ला ने कर्मचारियों के निकाले जाने की पुष्टि कर दी है, लेकिन संख्या का खुलासा अभी नहीं किया गया है। 

कर्मचारियों के निकाले जाने की खबर उस वक्त आई है। जब निर्माता अपने पहले जनता के सबसे पसंदीदा वाहन, दि मॉडल 3 सीडेन के उत्पादन को बढ़ाने का प्रयास कर रही है। 

रिपोर्ट में बताया गया कि कर्मचारियों को निकाला जाना यह दिखाता है कि मॉडल 3 के निर्माण में कर्मियों की समस्याओं ने शुरुआती मुसीबतों में योगदान दिया है।

लगभग 35,000 डॉलर की कीमत के साथ, नई कार जनरल मोटर्स और निसान जैसे ऑटोमेकर द्वारा उत्पादित इलेक्ट्रिक वाहन के अलावा कई गैसोलीन चालित सेडानों के साथ प्रतिस्पर्धा करने के लिए डिजाइन की गई है। 

टेस्ला ने 30 सितंबर को समाप्त हुए तीन महीनों में करीब 25,000 वाहन बनाए थे, लेकिन उनमें से केवल 260 मॉडल 3एस थे यानी अनुमानित 1500 से काफी कम।

इस बीच, टेस्ला के प्रतिनिधि ने कहा कि इस कार्रवाई से मॉडल 3 के उत्पादन पर कोई असर नहीं पड़ेगा और जल्द ही खाली हुए पदों को नई नियुक्तियों से भर लिया जाएगा। 

कंपनी के हवाले से कहा गया है कि कर्मचारियों की समग्र आहरण दर पिछले साल की तुलना में समान होगी। 

POPULAR ON IBN7.IN