आरबीआई ने 2017-18 का विकास दर अनुमान घटाकर 6.7 प्रतिशत किया

भारतीय रिजर्व बैंक आरबीआई ने वित्त वर्ष 2017-18 के लिए देश का विकास दर अनुमान बुधवार को घटाकर योजित सकल मूल्य (जीवीए) को 6.7 प्रतिशत कर दिया।

आरबीआई ने इसके पहले 2017-18 में देश के जीवीए वृद्धि दर 7.3 प्रतिशत अनुमानित किया था।

वित्त वर्ष के दौरान विभिन्न कारकों को ध्यान में रखते हुए आरबीआई ने कहा, "वित्त वर्ष 2017-18 के लिए वास्तवित जीवीए वृद्धि दर को संशोधित कर 6.7 प्रतिशत कर दिया गया है। इसके पहले अगस्त का अनुमान 7.3 प्रतिशत था।"

आरबीआई ने अपनी द्विमाही नीति समीक्षा की घोषणा करते हुए अपनी प्रमुख दरों को भी छह प्रतिशत पर बरकरार रखा है।

POPULAR ON IBN7.IN