पिज्‍जा हट की कर्मचारियों को चेतावनी- तूफान आए या बाढ़, 24 घंटे में काम पर लौटना होगा वर्ना…

मशहूर फूड डिलीवरी चेन ‘पिज्‍जा हट’ को सोशल मीडिया पर उसकी ‘शर्मनाक’ नीति के लिए लताड़ा जा रहा है। दरअसल, एक स्‍टोर के मैनेजर ने इरमा तूफान के मद्देनजर बिल्डिंग खाली करा रहे कर्मचारियों को अनुशासन में रहने की धमकी दी थी। ट्विटर पर एक तस्‍वीर वायरल हो रही है, जिसमें फ्लोरिडा के जैक्‍सनविले में पिज्‍जा हट स्‍टोर के कर्मचारियों के लिए निर्देश लिखे हुए हैं। इसमें लिखा है कि ‘कर्मचारी तूफान के 24 घंटे पहले काम छोड़कर नहीं जा सकते और उन्‍हें 72 घंटों में लौटना होगा। अगर वह अपनी शिफ्ट पर नहीं लौट पाते, तो वजह चाहे जो भी हो, इसे नो कॉल/नो शो समझा जाएगा और कागजी कार्रवाई की जाएगी। तूफान के बाद हमें सभी टीम मैनेजर स्‍टोर पर चाहिए ताकि हमें स्‍टोर चला सकें।’ तूफान से पहले के आखिरी 24 घंटों में बाहर निकलना खतरनाक हो सकता है और सड़क पर ट्रैफिक परेशानी खड़ी कर सकता है। मायामी के मेयर कार्लोस गिमेनेज ने कहा, ”अगर आप बाद में निकलते हैं तो आप ट्रैफिक की बाढ़ में फंस सकते हैं। आप पाएंगे कि आपकी कार तूफान के बीचोबीच फंसी है जो कि अच्‍छी जगह नहीं है।”

पिज्‍जा हट ने इस संदर्भ में अपनी वेबसाइट पर एक बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है, ‘हमारी ऐसी कोई नीति नहीं है जो टीम के सदस्‍यों को यह बताती हो कि आपदा के समय में जब आएं-जाएं। जिस मैनेजर ने यह लेटर पोस्‍ट किया, उसने कंपनी की गाइडलाइंस का पालन नहीं किया। हम इसकी भी पुष्टि करते हैं कि स्‍थानीय फ्रेंचाइज ऑपरेटर ने मैनेजर के साथ मिलकर मामला सुलझा लिया है।’

इरमा तूफान के कारण चल रहीं शक्तिशाली हवाओं से फ्लोरिडा पस्त है, जबकि खतरनाक तूफानी लहरों ने अमेरिकी राज्यभर में भारी बाढ़ की आशंकाओं को बढ़ा दिया है। विनाशकारी तूफान के कारण 56 लाख लोग अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थान पर चले गए हैं। फ्लोरिडा की 67 काउंटी में 64 में आश्रय केंद्रों को खोला गया है। राज्यभर के 573 आश्रय केंद्रों में 1,55,000 लोगों ने शरण ले रखी है।

तूफान का प्रभाव व्यापक रहा है। यहां तक कि उन इलाकों में भी इरमा के कारण बाढ़ और बिजली लाइनों के टूटने की स्थिति है, जहां इरमा का प्रत्यक्ष प्रभाव नहीं रहा। नेशनल हरिकेन सेंटर ने कहा, “फ्लोरिडा के दक्षिण-पश्चिमी तट पर विनाशकारी तूफानी बाढ़ का खतरा सबसे ज्यादा है, जहां जमीन से ऊपर 10 से 15 फुट ऊंची लहरों के उठने की आशंका है।”

POPULAR ON IBN7.IN