एच-1बी वीजा में सख्ती से अमेरिका को नुकसान

वाशिंगटन: अमेरिका के आइटी क्षेत्र को एच-1बी वीजा संबंधी नियमों में सख्ती नुकसान पहुंचा सकती है। इस संबंध में शीर्ष अमेरिकी थिंकटैंक ने ट्रंप प्रशासन को चेताया है। सेंटर फॉर ग्लोबल डेवलपमेंट की रिपोर्ट में कहा गया है कि डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन एच-1बी वीजा की समीक्षा कर रहा है। इसमें इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि इसका उपयोग अधिकतर भारतीय आइटी पेशेवर करते हैं और यह अमेरिका और भारत दोनों के लिए फायदेमंद है।

सीजीडी में फेलो गौरव खन्ना ने कहा, 'यह सुनिश्चित करना वास्तव में आवश्यक है कि दोनों देशों के आइटी सेक्टर प्रतिभाशाली लोगों को अपनी तरफ आकर्षित कर सकें क्योंकि यही दोनों देशों में शोध कार्य को आगे बढ़ाएंगे। एच-1बी से दोनों देशों की अर्थव्यवस्था लाभान्वित हुई है।' उन्होंने कहा कि एच1-बी में सख्ती से अमेरिका आइटी सेक्टर में बढ़त से हाथ धो सकता है। आइटी कंपनियों कनाडा की ओर मुंह मोड़ सकती हैं।

POPULAR ON IBN7.IN