भारतीय पैकिंग बाजार 2020 तक 32 अरब डॉलर का होगा

 

हैदराबाद:  देश में पैकिंग बाजार साल 2020 तक 32 अरब डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है। यह जानकारी इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पैकेजिंग (आईआईपी) के निदेशक एन. सी. साहा ने दी। साहा ने यहां सोमवार को संवाददाताओं को बताया, "देश का पैकिंग उद्योग वैश्विक पैकिंग उद्योग का 4 फीसदी है। भारत में प्रति व्यक्ति पैकिंग उपभोग काफी कम 8.7 किलोग्राम है, जबकि जर्मनी और ताइवान में यह क्रमश: 42 किलोग्राम और 19 किलोग्राम है।"

उन्होंने कहा, हालांकि संगठित रिटेल क्षेत्र और ई-कॉमर्स में आई तेजी से पैकिंग कारोबार को काफी बढ़ावा मिला है।

साहा ने बताया कि आईआईपी (जो वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त संस्था है) यहां 23-24 मार्च को दो दिवसीय 'इनोविजन इन पैकेजिंग सम्मेलन' का आयोजन करेगी।

उन्होंने कहा कि सम्मेलन का उद्देश्य दुनिया भर के नवाचारों का अद्यतन करना तथा पैकेजिंग मटीरीयल, तकनीक, प्रौद्योगिकी और पैकेजिंग मशीनों के स्टैंडर्ड को बढ़ाने पर चर्चा करना है।

इस दो दिवसीय सम्मेलन में 300 से ज्यादा प्रतिनिधि भाग लेगें, जिनमें अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी और स्विटजरलैंड के प्रतिनिधिमंडल भी शामिल हैं।

आईआईपी अपने परिचालन के विस्तार की योजना बना रही है। इसके तीन केंद्र बेंगलुरू, गुवाहाटी और आंध्रप्रदेश के काकीनाडा में अगले एक-दो सालों में पूरी तरह से शुरू हो जाएंगे।

Poker sites http://gbetting.co.uk/poker with all bonuses.