HDFC और BOI सहित कई बैंकों ने ब्याज दरों में की कटौती

एचडीएफसी सहित कुछ और बैंकों व आवास रिण कंपनियों ने आज अपनी उधारी दरों में 0.9 प्रतिशत तक की कटौती की घोषणा की जिससे आवास व कारपोरेट कर्ज सस्ता होगा।
बैंकों में कारपोरेशन बैंक, बैंक आफ इंडिया (बीओआई) व पंजाब एंड सिंध बैंक ने सीमांत लागत आधारित उधारी दर (एमसीएलआर) में कटौती की है। इसी तरह एचडीएफसी लिमिटेड व इंडिया बुल्स ने भी अपनी अपनी ब्याज दर में 0.45 प्रतिशत तक की कटौती की है। एचडीएफसी ने बयान में कहा कि अब 75 लाख रच्च्पये तक के आवास रिण पर 8.7 प्रतिशत सालाना का ब्याज लगेगा। महिला आवेदकों को 0.05 प्रतिशत की रियायत दी जाएगी।  अभी तक एचडीएफसी की बेंचमार्क रिण दर 9.1 प्रतिशत थी। नई दरें आज से लागू हो गई हैं।

इस बीच, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक आफ इंडिया (बीओआई) ने भी अपनी बेंचमार्क रिण दर में 0.9 प्रतिशत कटौती की घोषणा की है। एक साल की एमसीएलआर को 0.75 प्रतिशत घटाकर 8.50 प्रतिशत किया गया है। वहीं एक दिन की एमसीएलआर को 0.9 प्रतिशत की कटौती के साथ 8.1 प्रतिशत किया गया है। नई दरें 7 जनवरी से प्रभावी होंगी। पंजाब एंड सिंध बैंक ने एक साल के लिए एमसीएलआर को 0.8 प्रतिशत घटाकर 8.75 प्रतिशत किया है। इसके साथ ही बैंक ने आधार दर या न्यूनतम उधारी दर को 0.05 प्रतिशत घटाकर 9.70 प्रतिशत किया है जो कि कल से प्रभावी होगी। कारपोरेशन बैंक ने एक साल की एमसीएलआर दर को 0.7 प्रतिशत घटाकर 8.75 प्रतिशत किया है। सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के कई बैंकों ने अपनी बेंचमार्क रिण दरों में 1.48 प्रतिशत की कटौती की है जिससे आवास, वाहन और कारपोरेट लोन सस्ता होगा। नोटबंदी से बैंकों की जमा में जोरदार इजाफा हुआ है जिसकी वजह से ऋृतदाताओं ने यह कदम उठाया है।

POPULAR ON IBN7.IN